Gujarat Exclusive > देश-विदेश > जम्मू-कश्मीर: पुलवामा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, 2 आतंकी ढेर

जम्मू-कश्मीर: पुलवामा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, 2 आतंकी ढेर

0
612

जम्मू-कश्मीर: सुरक्षा बलों को बहुत बड़ी सफलता मिली है. पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शामिल जैश ए मोहम्मद के आतंकी अदनान इस्माईल उर्फ लंबू को सुरक्षाबलों में ढेर कर दिया है. वह जैश ए मोहम्मद के संस्थापक मौलान मसूद अजहर का करीबी रिश्तेदार भी थी. उसकी लंबाई की वजह से उसको घाटी में लंबू भाई के नाम से भी जाना जाता है. उसके साथ एक अन्य आतंकी को भी पुलिस ने मार गिराया है. मिल रही जानकारी के अनुसार वह 2017 से ही घाटी में सक्रिय था. Jammu and Kashmir 2 terrorists killed

जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों के हाथ लगी बड़ी कामयाबी Jammu and Kashmir 2 terrorists killed

पुलवामा के नागबेरन-तरसर वन क्षेत्र में आज सुबह सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच हुई मुठभेड़ में 2 आतंकवादी मारे गए हैं. मारे गए आतंकियों के पास से पुलिस ने भारी मात्रा में हथियार भी बरामद किए हैं. पुलिस ने बताया कि आतंकवादियों की मौजूदगी की जानकारी मिलने के बाद शनिवार सुबह इलाके की घेराबंदी कर दी गई थी. इसी दौरान बौखलाए आंतकियों ने सर्च अभियान चला रहे दल पर फायरिंग शुरू कर दी. सुरक्षा बलों के जवाबी कार्रवाई में दो आतंकवादी मारे गए है. Jammu and Kashmir 2 terrorists killed

2 आतंकवादियों को मार गिराया

जम्मू-कश्मीर के आईजीपी विजय कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस को जैश के कुछ आतंकियों के बारे में सूचना मिली थी. पुलिस और आर्मी ने मिलकर सर्च ऑपरेशन चलाया, आज सुबह फायरिंग शुरू हुई जिसमें जैश के 2 आतंकी मारे गए जिसमें एक जैश का टॉप मोस्ट वांटेड आतंकवादी है, जिसको लंबू भाई, अदनान और सैफुल्ला नाम से भी जानते हैं. Jammu and Kashmir 2 terrorists killed

पु​लवामा मुठभेड़ को लेकर कश्मीर के आईजीपी विजय कुमार ने आगे जानकारी देते हुए कहा कि अभी भी सर्च अभियान जारी है. मारे गए आतंकी लंबू के खिलाफ अब तक 14 FIR दर्ज़ हैं, ये पु​लवामा हमले का एक मुख्य आरोपी है. पुलवामा हमले में कुल 19 आरोपी हैं जिसमें से 7 आरोपी अब तक मारे गए हैं और 7 आतंक​वादियों को गिरफ़्तार किया गया है. एनआईए की चार्जशीट में लंबू का नाम भी है. Jammu and Kashmir 2 terrorists killed

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

मानसून सत्र: दिल्ली विधानसभा ने कृषि कानूनों को निरस्त करने का प्रस्ताव पारित