Gujarat Exclusive > देश-विदेश > जम्मू-कश्मीर: सुरक्षाबलों ने 4 आतंकवादियों को मार गिराया, एक ने किया आत्मसमर्पण

जम्मू-कश्मीर: सुरक्षाबलों ने 4 आतंकवादियों को मार गिराया, एक ने किया आत्मसमर्पण

0
1005

Jammu Kashmir News : जम्मू-कश्मीर में आए दिन आतंकी गतिविधियों बढ़ती जा रही हैं. सीमा पार से लगातार आतंकवादी भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ की कोशिश कर रहे हैं लेकिन भारतीय जवान उनके मंसूबों पर पानी फेर रहे हैं. इस बीच जम्मू कश्मीर के शोपियां जिले में सुरक्षा बलों को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है.

शोपियां में मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने चार आतंकवादियों को मार गिराया है. वहीं एक आतंकवादी ने आत्मसमर्पण कर दिया. सुरक्षाबलों का सर्च ऑपरेशन अब भी जारी है.

बताया जा रहा है कि सिक्योरिटी ऑपरेशन अब भी जारी है. घटनास्थल से एके 47 और पिस्तौल बरामद किए गये हैं.

 

सेना ने कहा कि एक आतंकवादी ने सरेंडर किया है और चार को शोपियां जिले के किलूरा इलाके में चल रही मुठभेड़ में मार गिराया गया. घटनास्थल से एके 47 और पिस्तौल बरामद किए गए हैं.

तलाशी दल पर किया हमला

आतंकियों ने सुरक्षा बल के तलाशी दल पर गोली चला दी और दोनों पक्षों के बीच मुठभेड़ शुरू हो गई. सुरक्षाबलों ने चार आतंकवादी को ढेर कर दिया. वहीं इस दौरान एक अन्य आतंकवादी ने आत्मसमर्पण कर दिया.

इंटेलिजेंस इनपुट मिलने के बाद जम्मू-कश्मीर पुलिस और सुरक्षाबलों की ओर से संयुक्त ऑपरेशन चलाया जा रहा है.

आतंकियों को मौत की नींद सुला रहे सुरक्षाबल

घाटी में लगातार सुरक्षाबलों की ओर से सर्च ऑपरेशन चलाकर लगातार आतंकियों को निशाने पर लिया जा रहा है. इसी हफ्ते बारामूला के क्रेरी इलाके में एक मुठभेड़ में सुरक्षाकर्मियों ने आतंकी को मार गिराया था.

वहीं, 20 अगस्त को भी हंदवाड़ा इलाके में सर्च ऑपरेशन चलाकर दो आतंकियों को मौत के घाट उतार दिया गया था. सुरक्षाबलों के मुताबिक, आतंकियों की पहचान लश्कर ए तैयबा के तौर पर की गई थी.

यह भी पढ़ें: चेन्नई सुपर किंग्स के एक खिलाड़ी को हुआ कोरोना, 12 स्टाफ भी संक्रमित

सुरक्षाबलों ने हंदवाड़ा में हुए मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकियों को मार गिराया था.
तब बताया गया था कि लश्कर कमांडर नसीरुद्दीन लोन उस एनकाउंटर में ढेर हुआ था. वह इस साल 18 अप्रैल को सोपोर और 4 मई को हंदवाड़ा में 3-3 जवानों की हत्या में शामिल था. हंदवाड़ा मुठभेड़ में मारे गए दोनों आतंकी हाल ही में उत्तरी कश्मीर में सीआरपीएफ पर हुए हमलों के लिए जिम्मेदार थे, जिसमें एक स्थानीय और एक विदेशी की मौत हो गई थी.

मालूम हो कि जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों के द्वारा 2020 में अबतक सौ से अधिक आतंकियों को मौत के घाट उतार दिया गया है. 15 अगस्त के वक्त भी घाटी में अलर्ट जारी किया गया था.

शोपियां में लापता पंच का शव बरामद

उधर शोपियां से 19 अगस्त को लापता हुए पंच का शव डांगम इलाके में एक बगीचे में बरामद किया गया है. पुलिस ने बरामद शव की पहचान खोंमोह इलाके से लापता पंच के रूप में की है. इसी मामले में पीड़ित परिवार ने बीते दिनों पुलिस के पास शिकायत दर्ज कराई थी जिसमें पंच के लापता होने की बात कही गई थी.

दरअसल शोपियां जिले के डांगम इलाके के एक बगीचे में राहगीरों ने एक शव देखा था.
इसके बाद पुलिस को सूचना दी. मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को बरामद कर लिया था.
साथ ही बताया कि शव को दफनाया गया था. पुलिस ने उक्त शव की पहचान खोंमोह के पंच निसार अहमद भट के रूप में की है.

पुलिस के पास दर्ज कराई गई शिकायत में परिवार ने कहा गया था कि भट 19 अगस्त को घर से किसी काम के लिए निकले थे. इसके बाद से उनका कोई पता नहीं चला. वहीं इस घटना के बाद आतंकवादियों ने एक ऑडियो जारी किया था. जिसमें उन्होंने पंच को मारने का दावा किया था.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

महेश मांजरेकर से अबू सालेम के नाम पर 35 करोड़ की फिरौती मांगने वाला गिरफ्तार