Gujarat Exclusive > देश-विदेश > जापान की राजधानी टोक्टो में 7.2 की तीव्रता से आया भूकंप, सुनामी का खतरा

जापान की राजधानी टोक्टो में 7.2 की तीव्रता से आया भूकंप, सुनामी का खतरा

0
270

जापान में एक दशक पहले एक प्रलयकारी भूकंप (Earthquake) के बाद सुनामी आई थी जिसमें हजारों लोगों की जान गई थी. एकबार फिर उस डरावने भूकंप की याद ताजा हो गई है. नेशनल सेंटर फॉर सिस्मोलॉजी के मुताबिक, शनिवार दोपहर जापान के टोक्यो शहर के निकट भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए. इसकी तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 7.2 दर्ज की गई है. Earthquake

भूकंप का केंद्र टोक्यो से 362 किलोमीटर उत्तर-उत्तरपूर्व (NNE) में था. भूकंप भारतीय समयानुसार दोपहर 2:39 बजे सतह से 77 किलोमीटर की गहराई में आया. जापान की मीटियरोलॉजिकल एजेंसी (JMA) ने भूकंप के झटके आने के बाद सुनामी की चेतावनी जारी की है. Earthquake

यह भी पढ़ें: चीन की वैक्सीन लगाने वाले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान को हुआ कोरोना

JMA ने बताया कि मियागी क्षेत्र में प्रशांत महासागर में 60 किलोमीटर अंदर शाम के 6.09 बजे भूकंप के झटके आए. एजेंसी ने एक मीटर की ऊंचाई वाली लहरों की सुनामी आने की चेतावनी जारी की है. उधर भूंकप के बाद न्यूक्लियर प्लांट्स का निरीक्षण किया जा रहा है. इसके अलावा लोकल रेलवे ने ट्रेन सेवाओं को रोक दिया है, जिसमें शिंकानसेन बुलेट ट्रेन सेवा भी शामिल है. Earthquake

एक दशक पहले आई थी सूनामी

करीब 10 पहले 11 मार्च 2011 को जापान में 9 तीव्रता का बड़ा भूकंप आया था, जिसके बाद सुनामी आई. उस सुनामी ने हजारों लोगों की जाने ले ली थी. इस घटना को हुए आज एक दशक का समय हो रहा है. उस हादसे में 18 हजार लोगों की जानें गई थीं. Earthquake

भूकंप और उसके बाद सुनामी ने जापान को तहस नहस कर दिया था. सड़कों और रेलवेको तो भारी नुकासन हुआ ही कई जगह आग लगने की घटना के साथ एक बांध के ढ़हने की भी खबर आई. पूर्वोत्तर जापान में 44 लाख घरों की बिजली ठप्प हो ईऔर 14 लाख घरों में पेयजल आपूर्ति ठप्प हो गई थी. बता दें कि जापान जैसे देश के लिए भूकंप कोई नई या अनोखी बात नहीं थी. वहां लोगों को भूकंप के आने पर तुरंत क्या करना चाहिए इसकी बाकायदा ट्रेनिंग दी जाती है. Earthquake

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें