Gujarat Exclusive > गुजरात > जयेश पटेल ने ज्वॉइन किया भाजपा, सीआर पाटिल की मौजूदगी !

जयेश पटेल ने ज्वॉइन किया भाजपा, सीआर पाटिल की मौजूदगी !

0
730

सीआर पाटिल की मौजूदगी में किसानों के अगुआ जयेश पटेल ने ज्वॉइन किया भाजपा

गांधीनगर: गुजरात भाजपा दफ्तर कमलम में आज भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सीआर पाटिल, विधायक मुकेश पटेल, सुमुल डेरी के अध्यक्ष राजू पाठक और जिला महासचिव संदीप देसाई की मौजूदगी में दक्षिण गुजरात किसान समाज के अगुआ जयेश पटेल ने ज्वॉइन किया भाजपा.

वह पिछले 25 वर्षों से किसान और सहकारी क्षेत्र से जुड़े हैं. सुमुल डेयरी में जयेश पटेल का खास वर्चस्व है.

सीआर पाटिल की मौजूदगी और सुमुल डेयरी चुनाव से ठीक पहले जयेश पटेल का भाजपा ज्वॉइन

करने से गुजरात की राजनीति में उथल-पुथल मच गई है.

इस मौके पर सीआर पाटिल ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि

“सुमुल डेयरी के दक्षिण गुजरात और सूरत का बड़ा नाम है. सुमुल डेयरी में ढाई लाख से अधिक आदिवासी लोग दूध देते हैं. वह विविध सामाजिक काम में जुड़े हैं. जयेशभाई बीते 20 वर्षों से चुने जा रहे हैं. वह कई सहकारी समितियों के सदस्य होने के साथ-साथ किसान समुदाय के नेता भी हैं. वहां के कृषक समुदाय के लोग की इच्छा थी कि वह भाजपा में जुड़े”

यह भी पढ़ें: गुजरात में कोरोना ने तोड़े अबतक के सारे रिकॉर्ड, 55 हजार के पार संक्रमितों की संख्या

उन्होंने आगे कहा कि वे लोगों की भावनाओं का सम्मान कर भाजपा में शामिल होने की इच्छा भी व्यक्त की.

यह तय है कि हम चुनाव जीतेंगे लेकिन यह जीत बिना किसी संघर्ष के आसानी से हो.

आदिवासी और पशुपालकों को इनका हमारे साथ जुड़ने से फायदा मिलेगी. हमारी टीम भी उसके साथ मिलकर काम करेगी.

सीआर पाटिल ने आगे कहा कि मुझे खुशी है कि जयेशभाई और वसंतभाई ने भाजपा ज्वॉइन किया.

साथ ही हम उनसे भाजपा की अनुशासित पार्टी में एकजुट होने और अधिक मजबूती के साथ काम करने की उम्मीद करते हैं.

जयेशभाई वर्षों से भाजपा के पैनल में हैं, लेकिन वह किसान और पशुपालकों के नेता के रूप में भाजपा में शामिल होने का इच्छा थी.

सुमुल डेरी में पार्टी की कामयाबी के लिए बिल्कुल भी जयेश भाई को शामिल नहीं किया गया है.

क्योंकि हमारे सामने कोई चुनाव लड़ने वाला है ही नहीं. उनकी खुद की भाजपा में जुड़ने की इच्छा थी इसलीए वह हमारे साथ जुड़े.

सीआर पाटिल का मास्टर स्ट्रोक

जैसे ही सीआर पाटिल भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बने उन्होंने पार्टी का

विरोध करने वाले लोगों को अपने साथ जोड़ना शुरू कर दिया है.

जयेश पटेल लंबे समय से किसानों के मुद्दे को लेकर भाजपा सरकार के खिलाफ आवाज उठाते रहे हैं.

माना जा रहा है कि आगामी दिनों में होने वाली सुमुल डेयरी चुनाव में भाजपा के लिए गले

की हड्डी बनने वाले जयेश पटेल को पार्टी में शामिल कर पहला पड़ाव में कामयाबी हासिल कर ली है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

गुजरात में फिर से शुरू होगी ऑनलाइन क्लास, निजी स्कूल संचालक मंडल का फैसला