Gujarat Exclusive > राजनीति > JDU अध्यक्ष बने RCP सिंह, ऐसा रहा नौकरशाह से लेकर सियासी सफर

JDU अध्यक्ष बने RCP सिंह, ऐसा रहा नौकरशाह से लेकर सियासी सफर

0
259

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जदयू अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे दिया है. उनकी जगह रामचंद्र प्रसाद सिंह ने ले ली है. JDU President RCP Singh

जदयू की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक नीतीश कुमार की अध्यक्षता में पार्टी के प्रदेश मुख्यालय स्थित कपूर्री ठाकुर सभागार में रविवार को शुरू हुई.

बैठक में नीतीश कुमार ने अपने उत्तराधिकारी के रूप में रामचंद्र प्रसाद के नाम की घोषणा की. उनके नाम की घोषणा के साथ, नीतीश कुमार ने भी उनके पक्ष में नारे लगाए.

नहीं बन पाएंगे केंद्रीय मंत्री

बिहार में जेडीयू की कमान संभालते ही नवनियुक्त अध्यक्ष आरसीपी सिंह ने कड़े तेवर दिखाए. सिंह ने कहा कि उनकी पार्टी बिहार में धर्मांतरण के मुद्दे पर बीजेपी का विरोध करेगी. JDU President RCP Singh

लेकिन उन्होंने साफ कर दिया कि बिहार में जेडीयू एनडीए के साथ बनी रहेगी. उल्लेखनीय है कि अब वह पार्टी अध्यक्ष बन गए हैं. इसलिए अब वह केंद्रीय मंत्री नहीं बन पाएंगे.

केसी त्यागी के बयान से बीजेपी नाराज JDU President RCP Singh

शनिवार को आयोजित बैठक में 25 पार्टी नेताओं ने भाग लिया था. इससे पहले पार्टी के पूर्व अध्यक्ष केसी त्यागी के बयान को लेकर बीजेपी और जेडीयू के बीच तनाव की स्थिति बन गई थी.

त्यागी ने कहा कि अरुणाचल में भाजपा ने जो किया वह दोस्ती के खिलाफ था. उनके इस बयान पर भाजपा प्रवक्ता प्रेमरंजन पटेल ने कहा कि जदयू को अपने नेताओं को कंट्रोल में रखना चाहिए था.

कौन हैं आरसीपी सिंह और कैसे बने नीतीश के करीबी JDU President RCP Singh

आरसीपी सिंह जदयू के राज्यसभा सांसद है वह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के पैतृक गांव के हैं इतना ही नहीं वह उनके ही जाति के हैं. कहा जाता है कि 1996 में नीतीश कुमार की नजर उनपर पड़ी थी जब वह वाजपेयी सरकार में मंत्री थे.

उसके बाद नीतीश ने सिंह को अपना सचिव बना लिया. जब नीतीश बिहार के मुख्यमंत्री बने तो सिंह को उत्तर प्रदेश से बिहार बुला लिया और उनको अपना प्रधान सचिव बना दिया. धीरे-धीरे इन दोनों के बीच नजदीकियां बढ़ती गई.

फिर उन्होंने 2010 में वीआरएस ले लिया. उसके बाद उनको राज्यसभा भेज दिया गया. JDU President RCP Singh

माना जाता है कि सिंह मिलनसार स्वभाव के हैं इसलिए पार्टी ने संगठन की जिम्मेदारी दे दी थी. लेकिन अब पार्टी ने सिंह को बड़ी जिम्मेदारी दी है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

PM मोदी की मन की बात का विरोध, आंदोलनरत किसानों ने बजाई थालियां