Gujarat Exclusive > राजनीति > बंगाल पहुंचे जेपी नड्डा ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं की शहादत जाया नहीं जाएगी

बंगाल पहुंचे जेपी नड्डा ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं की शहादत जाया नहीं जाएगी

0
271

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद से लगातार हिंसा जारी है. सत्तारूढ़ टीएमसी के कार्यकर्ताओं पर आरोप लगाया जा रहा है कि वह भाजपा कार्यकर्ताओं को निशाना बना रहे हैं.

पश्चिम बंगाल पहुंचे बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा हिंसा और आगजनी में मारे गए बीजेपी कार्यकर्ता और समर्थकों के परिजनों से मुलाकात कर रहे हैं. JP Nadda meets Bengal

भाजपा इस मामले को लेकर 5 मई यानी कल देशव्यापी धरना प्रदर्शन पर बैठने का फैसला किया है.

हिंसा में प्रभावित परिजन से नड्डा कर रहे हैं मुलाकात JP Nadda meets Bengal

बंगाल पहुंचे बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने गोपालनगर में हिंसा प्रभावित भाजपा कार्यकर्ताओं के घरों का दौरा किया. JP Nadda meets Bengal

इस दौरान उनके साथ भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष, प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय, सह प्रभारी शिवप्रकाश, लॉकेट चटर्जी जैसे कई अन्य नेता भी मौजूद रहे.

यहां से वह हिंसा में प्रभावित पार्टी कार्यकर्ताओं के परिवारों से दक्षिण-24 परगना के प्रतापनगर में भी मुलाकात किया.

बंगाल से इन विचारधारा को भाजपा उखाड़ फेकेगी

विधानसभा चुनाव का नतीजा सामने आने के बाद बंगाल पहुंचे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि भाजपा के एक-एक कार्यकर्ता के साथ करोड़ों पार्टी कार्यकर्ता खड़े हैं और उनकी शहादत ज़ाया नहीं जाएगी. JP Nadda meets Bengal

प्रजातांत्रिक तरीके से लड़ कर ऐसी विचारधारा को उखाड़ फेकेंगे. ममता जी ने फिर से तानाशाही, टोलाबाजी, तुष्टिकरण शुरू कर दिया है और भाजपा चुप नहीं रहने वाली है.

इतना ही नहीं जे.पी.नड्डा ने आगे कहा कि चुनाव के नतीजे आने के बाद TMC के गुंडों ने हरन अधिकारी के घर में घुसकर तोड़फोड़ की, हरन अधिकारी को घसीटते हुए पीटते ले गए और पीटते-पीटते उनकी जान चली गई.

जेपी नड्डा ने ममता पर सीधा आरोपी लगाते हुए कहा कि दीदी चुनाव जीतने के बाद आपकी पार्टी ने जो तांडव किया है.

यह तांडव बता रहा है कि आपको प्रजातंत्र में कितना विश्वास है. JP Nadda meets Bengal

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

गुजरात हाईकोर्ट ने AMC को आड़े हाथों लिया, कहा- सरकारी नीति के अनुसार निगम काम क्यों नहीं करती?