Gujarat Exclusive > राजनीति > कोरोना संकट में कमलनाथ जी और दिग्विजय सेंक रहे थे राजनीतिक रोटी: सिंधिया

कोरोना संकट में कमलनाथ जी और दिग्विजय सेंक रहे थे राजनीतिक रोटी: सिंधिया

0
820

राजस्थान में सियासी उठापठक के बीच मध्य प्रदेश की पूर्व सरकार को लेकर भाजपा नेता और राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया का बयान सामने आया है. सिंधिया ने कहा है कि मध्यप्रदेश में जनता का मोह कांग्रेस से भंग हो गया है, क्योंकि जब ये सत्ता में थे तो यहां व्यापार और भ्रष्टाचार की सरकार चला रहे थे. इस दौरान उन्होंने कहा कि जब दुनिया कोरोना से त्राहिमाम थी तब कमलनाथ जी और दिग्विजय सिंहव राजनीतिक रोटी सेंक रहे थे.

मंगलवार को ज्योतिरादित्य सिंधिया भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष उमा भारती से मिलने उनके निवास पर गए. उमा भारती से मिलने के बाद उन्होंने कहा, ‘पूरे प्रदेश की जनता का मोह कांग्रेस से भंग हो गया है, क्योंकि इन्होंने 15 महीने व्यापार और भ्रष्टाचार की सरकार चलाई.’

सिंधिया ने कहा, ‘जब ये (कांग्रेस) मध्यप्रदेश की सत्ता में थे. 15 महीने तब पूरा भ्रष्टाचार की सरकार चल रही थी वल्लभ भवन में (मंत्रालय भवन) और इसलिये मैं 90 दिन तक चुप रहा, क्योंकि पूरा विश्व और प्रदेश कोरोना की महामारी के प्रकोप में चल रहा था और कमलनाथ जी और दिग्विजय सिंह राजनीतिक रोटी सेंक रहे थे. एक जनसेवा का कार्य नहीं हुआ. 15 महीने जो इन्होंने किया वहीं कोरोना में भी किया और आज इनको जवाब देने के लिये मैं मैदान में आ गया हूं.’

हालांकि सिंधिया ने राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार पर संकट के संबंध में पूछे गये सवाल पर बोलने से इंकार कर दिया. सिंधिया ने कहा कि वह उमा भारती से मिलने और उनका आर्शीवाद लेने के लिये आये हैं. उन्होंने कहा, ‘श्रद्धेय उमा भारती जी के साथ मेरा एक पारिवारिक संबंध सदैव रहा है. उनका आर्शीवाद मुझे प्राप्त हुआ है, मैं सौभाग्यशाली हूं.’

वहीं उमा भारती ने कहा, ‘जब मैं आठ साल की थी, तब से मुझे अम्मा जी (विजयाराजे सिंधिया) का स्नेह मिला है. मैं ज्योतिरादित्य को तब से जाना है जब वह एक बालक थे.’ उमा भारती ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को आर्शीवाद देते हुए कहा, ‘मेरा प्रबल आर्शीवाद उनके साथ है.’

जम्मू कश्मीर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष रैना कोरोना से संक्रमित, हजारों लोगों पर खतरा