Gujarat Exclusive > राजनीति > कमलनाथ के बयान पर बरसीं मायावती, कहा- कांग्रेस आलाकमान मांगे माफी

कमलनाथ के बयान पर बरसीं मायावती, कहा- कांग्रेस आलाकमान मांगे माफी

0
542
  • कमलनाथ के बयान पर जारी हुआ मध्य प्रदेश में सियासी हंगामा
  • भाजपा के बाद बसपा ने कांग्रेस का किया घेराव
  • मायावती ने कहा कि कांग्रेस सार्वजिनक तौर पर मांगे माफी

कोरोना संकट काल में होने वाले मध्य प्रदेश विधानसभा उपचुनाव से नेताओं के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है.

कल कांग्रेस के दिग्गज नेता और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भारतीय जनता पार्टी की महिला प्रत्याशी के बारे में ‘आइटम’ जैसे आपत्तिजनक शब्द का इस्तेमाल किया था.

अब इस मामले सियासत तेज हो गई है. बीजेपी के बाद अब बसपा ने भी कमलनाथ के बहाने कांग्रेस को घेरने की कोशिश की है.

मायावती ने ट्वीट कर बोला हमला

मामला सामने आने के बाद उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा सुप्रीमो मायावती ने दो ट्वीट कर हमला बोला.

उन्होंने अपने पहले ट्वीट में लिखा “मध्यप्रदेश में ग्वालियर की डाबरा रिजर्व विधानसभा सीट पर उपचुनाव लड़ रही दलित महिला के बारे में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व सीएम द्वारा की गई घोर महिला-विरोधी अभद्र टिप्पणी अति-शर्मनाक व अति-निन्दनीय. इसका संज्ञान लेकर कांग्रेस आलाकमान को सार्वजनिक तौर पर माफी माँगनी चाहिए.

 

यह भी पढ़ें: कमलनाथ के बयान के विरोध में CM शिवराज का मौन उपवास, बैकफुट पर कांग्रेस

कांग्रेस सार्वजिनक तौर पर मांगे माफी

मायावती ने इस मामले को लेकर एक अन्य ट्वीट कर दलित समाज के लोगों से अपील करते हुए कहा कि कांग्रेस को सबक सिखाने के लिए दलितों का बीएसपी के उम्मीदवारों को वोट देना चाहिए.

उन्होंने ट्वीट कर लिखा ” साथ ही, कांग्रेस पार्टी को इसका सबक सिखाने व आगे महिला अपमान करने से रोकने आदि के लिए भी खासकर दलित समाज के लोगों से अपील है कि वे एम.पी. में विधानसभा की सभी 28 सीटों पर हो रहे उपचुनाव में अपना वोट एकतरफा तौर पर केवल बी.एस.पी. उम्मीदवारों को ही दें तो यह बेहतर होगा.”

CM शिवराज ने किया मौन उपवास

कमलनाथ के बयान के बाद राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने आज दो घंटा मौन उपवास पर बैठकर उनके इस बयान का विरोध किया. इस मौन उपवास में राज्य के अन्य मंत्री और पार्टी के नेताओं ने हिस्सा लिया.

वहीं कमलनाथ के बयान के खिलाफ शिवराज के अलावा ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी इंदौर में मौन धारण कर उनके खिलाफ विरोध दर्ज कराया.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

बलिया गोलीकांड आरोपी के सपोर्ट में बयान देने वाले BJP विधायक पर गिर सकती है गाज