Gujarat Exclusive > यूथ > जुबानी जंग के बीच कंगना रनौत को Y कैटेगरी की सुरक्षा, ट्वीट कर अदा किया शुक्रिया

जुबानी जंग के बीच कंगना रनौत को Y कैटेगरी की सुरक्षा, ट्वीट कर अदा किया शुक्रिया

0
1013
  • कंगना रनौत और महाराष्ट्र के नेताओं के बीच जारी जुबानी जंग
  • केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कंगना को दी वाई श्रेणी की सुरक्षी
  • ट्वीट कर कंगना ने गृह मंत्री का अदा किया शुक्रिया
  • बदजुबानी को लेकर आमने-सामने आ गए थे कंगना और संजय

बॉलीवुड एक्‍ट्रेस कंगना रनौत और महाराष्ट्र के नेताओं के बीच जारी जुबानी जंग के बीच अब केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कंगना को वाई श्रेणी की सुरक्षी दी है.

सूत्रो से मिली जानकारी के अनुसार शिवसेना और कंगना के बीच होने वाले तकरार के बाद संजय राउत ने उन्हें मुंबई में नहीं आने की सलाह दी थी.

इतना ही नहीं कंगना के खिलाफ मुंबई में दो एफआईआर भी दर्ज हो चुके हैं.

विवादित बयान के बाद शुरू हुआ था हंगामा

कंगना ने बीते दिनों मुंबई की तुलना तालिबान शासित पाकिस्‍तान के कब्‍जे वाले कश्‍मीर से किया था. जिसके बाद यह मामला बढ़ गया था.

महाराष्‍ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा था कि यदि कंगना यहां असुरक्षित महसूस करती हैं तो उन्‍हें यहां पर रुकने का कोई अधिकार नहीं है.

उनके इस बयान पर कंगना ने हमला करते हुए कहा था कि “किसी के बाप का नहीं है महाराष्ट्र, महाराष्ट्र उसी का है जिसने मराठी गौरव को प्रतिष्ठित किया है.

और मैं डंके की चोट पे कहती हूँ हॉ मैं मराठा हूँ ,उखाड़ो मेरा क्या उखाड़ोगे?”

यह भी पढ़ें: बदजुबानी पर एक बार फिर से कंगना रनौत और संजय राउत आमने-सामने

 

 

ट्वीट कर अदा किया शुक्रिया

कंगना और महाराष्ट्र के नेताओं के बीच होने वाली जुबानी जंग के बीच अब केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कंगना को वाई श्रेणी की सुरक्षी देने का फैसला किया है. इसकी जानकारी सामने आने के बाद उन्होंने गृह मंत्री अमित शाह का शुक्रिया अदा करते हुए ट्वीट कर लिखा-“ये प्रमाण है की अब किसी देशभक्त आवाज़ को कोई फ़ासीवादी नहीं कुचल सकेगा,मैं @AmitShah जी की आभारी हूँ वो चाहते तो हालातों के चलते मुझे कुछ दिन बाद मुंबई जाने की सलाह देते मगर उन्होंने भारत की एक बेटी के वचनों का मान रखा, हमारे स्वाभिमान और आत्मसम्मान की लाज रखी, जय हिंद.”

उल्लेखनीय है कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले को लेकर कंगना रनौत शुरुआत से ही मुखर होकर अपनी बात लोगों के सामने रख रही हैं.

उन्होंने बॉलीवुड माफिया, भाई-भतीजावाद(नेपोटिज्म) के साथ ही साथ ड्रग्स के मुद्दे पर बेबाक होकर अपनी बात रखी है.

चर्चित बयानों की वजह से कुछ बॉलीवुड सेलिब्रिटिज उनका सपोर्ट कर रहे हैं तो कुछ उनका विरोध भी कर रहे हैं.

सुशांत मामले को लेकर महाराष्ट्र सरकार और कंगना आमने सामने नजर आ रहे हैं.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

छत्रपति शिवाजी के नाम पर कंगना को हरामखोर कहना शिवसेना की नीचता: संजय निरुपम