Gujarat Exclusive > राजनीति > कपिल सिब्बल का पीएम से सवाल, ‘जब घुसपैठ नहीं हुई तो जवान शहीद कैसे हुए’

कपिल सिब्बल का पीएम से सवाल, ‘जब घुसपैठ नहीं हुई तो जवान शहीद कैसे हुए’

0
1448

पूर्वी लद्दाख के गलवान घाटी में भारत और चीनी सेना के बीच हुई हिंसक झड़प पर विपक्ष लगातार केंद्र सरकार पर हमलावर है. इस झड़प पर पीएम मोदी के बयान पर विपक्ष के कई नेता लगातार सवाल उठा रहे हैं. अब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने पीएम मोदी के हालिया बयान पर सवाल खड़े किए हैं.

न्यूज एजेंसी ANI से बातचीत में कपिल सिब्बल ने पीएम मोदी के बयान का हवाला देते हुए पूछा कि ‘प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी सरहद के पार कोई नहीं आया. प्रधानमंत्री जी अपने बयान दे रहे हैं, रक्षा मंत्रालय और विदेश मंत्रालय अपने बयान दे रहे हैं. हम पूछना चाहते हैं कि किस का बयान सही है.’ दरअसल पीएम ने सर्वदलीय बैठक में कहा था कि ”पूर्वी लद्दाख में जो हुआ…न वहां कोई हमारी सीमा में घुस आया है और न ही कोई घुसा हुआ है, न ही हमारी कोई पोस्ट किसी दूसरे के कब्जे में है.”

कपिल सिब्बल ने कहा कि आर्मी जनरल के बयान और सैटेलाइट इमेजरी दिखाती है कि चीनियों ने इस पार आकर कब्जा करने की कोशिश की. उन्होंने कहा कि ‘पीएम मोदी कहते हैं कि कोई आया ही नहीं तो क्या कर्नल संतोष और 19 जवानों की जान ऐसे ही चली गई. अगर कोई घुसपैठिया यहां आया ही नहीं था तो जवानों को जान क्यों देनी पड़ी ये सवाल उठता है.’

वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने सरकार पर सवाल उठाते हुए कहा कि ‘जिन्होंने कुर्बानी दी, उनके परिवार के लोग अब पूछते हैं कि बताइए प्रधानमंत्री जी हमें जवाब चाहिए. आर्मी जनरल के बयान और सेटेलाइट इमेजरी दिखाती है कि चीनियों ने इस पार आकर कब्जा करने की कोशिश की और किया. वो 8किलोमीटर तक अंदर आए, 60 परमानेंट ढांचे और बंकर बनाए हैं.’

कपिल सिब्बल ने चीन द्वारा भारतीय सीमा में घुसपैठ किये जाने का हवाला देते हुए कहा कि ‘वो वहां बैठे हुए हैं और हम कह रहे हैं कि वहां कोई कब्जा नहीं हुआ. 20 जवानों को क्यों कुर्बानी देनी पड़ी, हमारे 85 जवान घायल हैं और चीन ने 10 जवानों को कैद भी किया. इसकी क्या जरूरत थी अगर चीनी सिपाही सरहद के इस पार आए ही नहीं थे.’

राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के लिए शाही लीची लाया था अधिकारी, हुआ कोरोना पॉजिटिव