Gujarat Exclusive > देश-विदेश > कर्नाटक में कोरोना बेकाबू, राज्य के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा- ‘अब भगवान ही बचा सकते हैं’

कर्नाटक में कोरोना बेकाबू, राज्य के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा- ‘अब भगवान ही बचा सकते हैं’

0
988

देश के कुछ राज्यों में कोरोना महामारी का सबसे ज्यादा कहर देखने को मिल रहा है. कर्नाटक में वैसे तो कोरोना से हालात पिछले कुछ हफ्तों तक ठीक थे लेकिन अब हालात वहां बिगड़ते जा रहे हैं. कर्नाटक देश में सबसे ज्यादा मामलों की सूची में गुजरात को पीछे छोड़ चौथे नंबर पर पहुंच चुका है. राज्य की स्थिति पर सूबे के स्वास्थ्य मंत्री भी हताश हो गए हैं. कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री बी. श्रीरामुलु कहा कि ‘अब कोरोना वायरस से हमें भगवान ही बचा सकते हैं’.

48 वर्षीय बीजेपी नेता बी. श्रीरामुलु ने कहा, ‘दुनियाभर में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. हम सबको सावधान रहना चाहिए. चाहे आप सत्ता में हो या विपक्ष में, अमीर हों या गरीब. वायरस किसी में भेद नहीं करता है. मुझे 100 फीसदी विश्वास है कि अगले दो महीनों में केस बढ़ेंगे ही.’स्वास्थ्य मंत्री ने कहा,  लोग शिकायत कर सकते हैं कि यह सब सरकार की लापरवाही की वजह से हो रहा है या फिर मंत्रियों को बीच असहयोग इसकी वजह है लेकिन यह सब सच्चाई से बहुत दूर है. अब बस भगवान ही हमें कोरोना से बचा सकते हैं.’

बी. श्रीरामुलु ने दी सफाई

इस बयान पर बवाल मचने के बाद बी. श्रीरामुलु ने सफाई देते हुए कहा कि मीडिया के एक वर्ग ने उनके बयान को गलत तरीके से पेश किया है. श्रीरामुलु ने बुधवार को दिए अपने बयान पर स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि उनका मतलब यह था कि जब तक कोविड-19 का टीका नहीं बन जाता तब तक भगवान ही हमारी रक्षा कर सकते हैं.

बयान पर मचा बवाल

उधर कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार ने बीएस येदियुरप्पा सरकार पर हमला करते हुए ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने लिखा, ‘कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री का कहना है कि ‘अब बस भगवान ही कर्नाटक को बचा सकते हैं’. उनका यह बयान दिखाता है कि येदियुरप्पा सरकार कोविड संकट से लड़ने में नाकाम रही है. हमें ऐसी सरकार की जरूरत क्या है, जो महामारी नहीं संभाल पा रही है? इस सरकार के निकम्मेपन ने जनता को भगवान भरोसे छोड़ दिया है.’

47 हजार से ज्यादा मामले

मालूम हो कि कोरोना वायरस के मामले कर्नाटक में लगातार तेजी से बढ़ रहे हैं.  राज्य में अब तक कोरोना के 47,253 मामलों की पुष्टि हो चुकी है. राज्य में सक्रिय मामलों की संख्या ज्यादा है क्योंकि पिछले कुछ हफ्तों में ही यहां ज्यादा मामले सामने आए हैं. वहीं कर्नाटक में मरने वालों की संख्या 928 पहुंच चुकी है.

डॉ. फाउची का ऐलान, 2020 के अंत तक अमेरिका को मिल जाएगी कोरोना वैक्सीन