Gujarat Exclusive > देश-विदेश > राजीव गांधी की जगह अब मेजर ध्यानचंद के नाम पर होगा खेलरत्न पुरस्कार: PM मोदी

राजीव गांधी की जगह अब मेजर ध्यानचंद के नाम पर होगा खेलरत्न पुरस्कार: PM मोदी

0
206

टोक्यो ओलिंपिक में भारतीय खिलाड़ियों के शानदार प्रदर्शन जारी है. इस बीच मोदी सरकार ने एक बड़ा फैसला किया है. केंद्र सरकार ने राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार का नाम मेजर ध्यानचंद के नाम पर रखने का फैसला लिया गया है. इस फैसले की जानकारी देते हुए पीएम मोदी ने कहा कि काफी लोगों की अनुरोध के बाद यह निर्णय लिया गया है. Khel Ratna Award Major Dhyan Chand

मोदी सरकार ने लिया अहम फैसला

मोदी सरकार के इस फैसले के बाद अब खेल रत्न पुरस्कार को राजीव गांधी की जगह मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार के नाम से जाना जाएगा. पीएम मोदी ने ट्वीट कर जानकारी देते हुए बताया कि “देश को गर्वित कर देने वाले पलों के बीच अनेक देशवासियों का ये आग्रह भी सामने आया है कि खेल रत्न पुरस्कार का नाम मेजर ध्यानचंद जी को समर्पित किया जाए. लोगों की भावनाओं को देखते हुए, इसका नाम अब मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार किया जा रहा है. जय हिंद!” Khel Ratna Award Major Dhyan Chand

हॉकी स्टिक में चुम्बक होने का था शक Khel Ratna Award Major Dhyan Chand

ध्यानचंद की अगुआई में भारत ने लगातार तीन ओलंपिक (1928, 1932 और 1936) स्वर्ण पदक जीते. इस दौरान उन्होंने अनगिनत गोल किए. हॉकी स्टिक के साथ वह गजब की तेजी के साथ मैदान में आगे बढ़ते थे और ऐसा लगता था कि उनकी स्टिक में चुम्बक लगा हो. कहा जाता है कि विदेशी दौरे पर एक मुकाबले के दौरान ध्यानचंद इतने गोल मार रहे थे कि चुम्बक होने के शक में उनकी हॉकी स्टिक तोड़कर देखी गई. Khel Ratna Award Major Dhyan Chand

एक कसर रह गई है अधूरी

खेलों में ध्यानचंद की अपार सफलताओं को ध्यान में रखकर भारत सरकार ने उन्हें पद्मभूषण से नवाजा और उनके जन्म दिवस 29 अगस्त को राष्ट्रीय खेल दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया लेकिन एक कसर अब तक अधूरी ही रह गई. सचिव तेंदुलकर खेलों में भारत रत्न हासिल करने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी हैं. लेकिन देश के इस सर्वोच्च सम्मान पर ध्यानचंद का भी पूरा हक है. Khel Ratna Award Major Dhyan Chand

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

राज्यसभा की कार्यवाही 9 अगस्त तक के लिए स्थगित, विपक्ष का जारी है हंगामा