Gujarat Exclusive > राजनीति > श्रमिक विशेष ट्रेन चलाने का मामला, पी चिदंबरम ने कहा देर से आए दुरुस्त आए

श्रमिक विशेष ट्रेन चलाने का मामला, पी चिदंबरम ने कहा देर से आए दुरुस्त आए

0
864

कोरोना वायरस लॉकडाउन के बीच फंसे प्रवासी मजदूरों और छात्रों को बाहर निकालने के लिए केंद्र सरकार ने आवाजाही की अनमुति दी. इसके बाद महाराष्ट्र, पंजाब समेत कई राज्यों ने फंसे लोगों को निकालने के लिए विशेष ट्रेनें चलाने की मांग की है. भारतीय रेलवे ने तेलंगाना से झारखंड के लिए शुक्रवार को विशेष ट्रेन भी चलाई. पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम ने खराब तैयारी का आरोप लगाते हुए शनिवार को केंद्र पर निशाना साधा.

चिदंबरम ने शनिवार को अपने ट्वीट में लिखा- “29 अप्रैल- प्रवासी मजदूरों को उनके घर भेजने की अनुमति देने वाली मांग को कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई. 30 अप्रैल- प्रवासी मजदूरों को लाने-जाने के लिए बसों को अनुमति होगी. 1 मई- नॉन स्टॉप ट्रेनों की अनुमति दी जाएगी. देर आए दुरुस्त आए. यह बेकार सोच और बेहूदी योजना का एक और उदाहरण है.

 

कोरोना वायरस के खतरे को रोकने के लिए गृह मंत्रालय ने 3 मई को खत्म हो रहे लॉकडाउन के दूसरे चरण को आगे बढ़ाने का फैसला किया है. लॉकडाउन का तीसरा चरण 17 मई चलेगा. सरकार ने शुक्रवार को इस संबध में घोषणा करते हुए नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं. मौजूदा लॉकडाइन की तुलना में अगले लॉकडाउन में कुछ ज्यादा रियायतें दी गई हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय ने देश के सभी जिलों में रेड, ऑरेन्ज और ग्रीन ज़ोन के हिसाब से बांटा हैं.

भारत में कोरोना वायरस से अब तक 1,218 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि संक्रमितों की संख्या 37,336 हो गई है. वहीं, पिछले 24 घंटों में कोरोना के 2,293 नए मामले सामने आए हैं और 71 लोगों की मौत हुई है. 24 घंटे में अब तक सबसे ज़्यादा मामले सामने आए हैं.

श्रमिक विशेष ट्रेनों में उड़ी सरकारी निर्देशों की धज्जियां, मजदूरों से वसूला गया किराया