Gujarat Exclusive > देश-विदेश > राम मंदिर भूमि पूजन पर लग सकता है ग्रहण, हाईकोर्ट में याचिका दाखिल

राम मंदिर भूमि पूजन पर लग सकता है ग्रहण, हाईकोर्ट में याचिका दाखिल

0
1215

राम मंदिर के निर्माण को लेकर तैयारियां जोरों पर है. पांच अगस्त को राम मंदिर के लिए होने वाले भूमि पूजन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित तमाम बड़े नेताओं को हिस्सा लेने के लिए न्योता भेजा जा चुका है. हालांकि इससे पहले विवाद भी तेज हो गया है. पहले तो शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती ने 5 अगस्त के मुहूर्त को अशुभ बता दिया. उसके बाद इस पर रोक लगाने के लिए इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की गई है.

जाने-माने पत्रकार साकेत गोखले ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में पीआईएल दाखिल कर भूमि पूजन को कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन बताते हुए रोक लगाने की मांग की है. उन्होंने पीआईएल में कहा कि अयोध्या में होने वाले इस भूमि पूजन में तीन से ज्यादा लोग एक जगह पर जमा होंगे जो कोरोना सरकारी नियमों के खिलाफ है. ऐसा करने से कोरोना संक्रमण बढ़ने का भी खतरा है.

यह भी पढ़ें: सेना में महिलाओं के स्थायी कमीशन को रक्षा मंत्रालय से मिली मंजूरी

उन्होंने अपने पीआईएल में उल्लेख किया कि बकराईद के मौके पर होने वाली सामूहिक नमाज की इजाजत नहीं दी गई है. इसलिए ऐसे प्रोग्राम पर भी रोक लगना चाहिए जहां एक साथ इतने लोगों के जमा होने की संभावना जताई जा रही है.

साकेत गोखले विदेशों के कई अखबार में काम कर चुके हैं. फिलहाल वह सोशल एक्टिविस्ट है. उनके लेटर पिटीशन को अभी तक चीफ जस्टिस ने सुनवाई के लिए मंजूर नहीं किया है. यदि पीटीशन मंजूर हुई तो चीफ जस्टिस द्वारा गठित बेंच इस मामले की सुनवाई करेगी. इस पिटीशन में राम मंदिर ट्रस्ट के साथ ही साथ केंद्र सरकार को भी पक्षकार बनाया गया है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

देश में कोरोना ने तोड़े अब तक के सारे रिकॉर्ड, 50 हजार के करीब दर्ज हुए नए मामले