Gujarat Exclusive > देश-विदेश > निर्भया के दोषियों की अंतिम इच्‍छा जानकर आप भी रह जाएंगे हैरान, अंगदान और….

निर्भया के दोषियों की अंतिम इच्‍छा जानकर आप भी रह जाएंगे हैरान, अंगदान और….

0
640

सात साल से भी ज्यादा समय से चला आ रहा इंतजार आखिर खत्म हुआ और निर्भया के चारों दोषियों को शुक्रवार सुबह साढे पांच बजे फांसी पर लटका दिया गया. फांसी दिए जाने से कुछ ही मिनट पहले निर्भया सामूहिक बलात्कार मामले के चारों दोषियों में से मुकेश सिंह ने कहा कि वह अंगदान करना चाहता है, जबकि विनय शर्मा ने कहा कि वह अपनी पेंटिंग्स को जेल अधीक्षक को और हनुमान चालीसा को अपने परिवार को देना चाहता है.

हालांकि चारों दोषियों मुकेश, विनय, पवन गुप्ता और अक्षय कुमार सिंह में से किसी ने भी कोई वसीयत या इच्छा दर्ज नहीं कराई. अधिकारी ने बताया,  विनय ने कहा कि उसकी पेंटिंग्स को जेल अधीक्षक को दे दिया जाए और हनुमान चालीसा की उसकी प्रति को उसके परिवार को दे दिया जाए. जेल अधिकारी ने यह जानकारी देते हुए बताया कि विनय जेल में पेंटिंग्स बनाता था. मौत की सजा पाए चारों दोषियों को फांसी दिए जाने से पूर्व उनकी आखिरी इच्छा के बारे में पूछा गया था.

फांसी दिए जाने से एक घंटे से भी कम समय पहले जेल अधिकारी और पश्चिमी दिल्ली जिला मजिस्ट्रेट नेहा बंसल चारों दोषियों से उनकी कोठरियों में जाकर मिले थे. जेल की नियामवली के अनुसार अधीक्षक और जिला मजिस्ट्रेट या अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट की उपस्थिति में कैदी वसीयत सहित किसी भी दस्तावेज पर हस्ताक्षर कर सकते हैं या उसे संलग्न किया जा सकता है. मालूम हो कि पूरे देश की आत्मा को झकझोर देने वाले इस मामले के चारों दोषियों मुकेश सिंह (32), पवन गुप्ता (25), विनय शर्मा (26) और अक्षय कुमार सिंह (31) को सुबह साढ़े पांच बजे तिहाड़ जेल में फांसी दे दी गई.

निर्भया के दोषियों को फांसी होते ही लगा जिंदाबाद का नारा, तिहाड़ जेल के बाहर जमा लोगों ने बताया इंसाफ की सुबह