Gujarat Exclusive > यूथ > आखिरकार खत्म हुआ 30 साल का लंबा इंतजार, लिवरपूल बना ईपीएल चैंपियन

आखिरकार खत्म हुआ 30 साल का लंबा इंतजार, लिवरपूल बना ईपीएल चैंपियन

0
1438

पिछले सत्र में लिवरपूल फुटबॉल क्लब महज एक अंक से इंग्लिश प्रीमियर लीग (ईपीएल) का खिताब जीतने से वंचित रह गया था. तब उसे मैनचेस्टर सिटी के हाथों खिताब गंवाना पड़ा था लेकिन इस बार सिटी को उसने पछाड़ते हुए खिताब पर कब्जा जमाया. हुआ यूं कि बुधवार को जैसे ही चेल्सी ने मैनचेस्टर सिटी को 2-1 से हराया, लिवरपूल का 30 साल से चला आ रहा खिताबी सूखा खत्म हो गया.

इससे पहले लिवरपूल ने आखिरी बार 1989-90 में प्रीमियर लीग का खिताब जीता था. वैसे लिवरपूल का यह 19वां इंग्लिश प्रीमियर लीग का खिताब है लेकिन इंग्लिश फुटबॉल के आधुनिक युग में लिवरपूल का यह पहला शीर्ष खिताब है. ओवरऑल सर्वाधिक खिताब जीतने के मामले में मैनचेस्टर युनाइटेड शीर्ष पर है जिसने सर्वाधिक 20 बार इस ट्रॉफी पर कब्जा किया है.

लिवरपूल की इस कामयाबी का श्रेय मैनेजर जुर्गेन क्लोप को दिया जा रहा है. उनकी अगुआई में टीम पिछले साल फाइनल में पहुंची थी. इस जीत के बाद उसके प्रशंसक इतने उत्साहित हो गए कि कोरोना काल में नियमों का ध्यान नहीं रखा. फैंस ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया और पूरी रात पार्टी चलती रही.

 

मालूम हो कि पिछले साल लिवरपूल ने टॉटनहम को हराकर यूएफा चैंपियंस लीग का खिताब जीता था. तब लिवरपूल ने 14 साल बाद यूरोपियन चैंपियनशिप हथियाई थी. पिछले साल क्लब विश्व कप भी लिवरपूल ने अपने नाम किया था.

कोरोना वायरस के कारण लिवरपूल की इस जीत की चमक थोड़ी फीकी पड़ गई क्योंकि फिलहाल दुनिया की सभी लीगों का आयोजन बिना दर्शकों के हो रहा है. ऐसे में लिवरपूल के इस ऐतिहासिक क्षण को उसके फैंस मैदान में नहीं देख सके लेकिन इसके बावजूद क्लब ने अपनी ख्याति के मुताबिक प्रदर्शन किया. 31 मुकाबलों के बाद लिवरपूल अंक तालिका में सर्वाधिक 86 अंक लेकर पहले स्थान पर है. वहीं सिटी इतने ही मुकाबलों में 63 अंकों के साथ दूसरे पायदान पर है. मौजूदा सत्र में अभी लिवरपूल को सात मैच खेलने हैं लेकिन उससे पहले ही उसने खिताब अपने नाम कर लिया है.

प्यार में धोखा देने वाले पार्टनर को दूसरा मौका देना चाहते हैं भारतीयः स्टडी