Gujarat Exclusive > देश-विदेश > कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण बिहार में 16 से 31 जुलाई तक संपूर्ण लॉकडाउन

कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण बिहार में 16 से 31 जुलाई तक संपूर्ण लॉकडाउन

0
739

कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण बिहार में फिर से लॉकडाउन का ऐलान किया गया है. नीतीश सरकार ने बिहार में 16 से 31 जुलाई तक संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की है. इस दौरान सिर्फ इमरजेंसी सेवाओं की ही इजाजत होगी. लॉकडाउन को लेकर विस्तृत गाइडलाइंस जल्दी जारी की जाएगी. सोमवार को इस संबंध में प्रस्ताव तैयार कर लिया गया था. इस पर अंतिम मुहर के लिए मंगलवार को मुख्य सचिव दीपक कुमार की अध्यक्षता में क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप (सीएमजी) की बैठक हुई जिसके बाद लॉकडाउन पर मुहर लगी.

मालूम हो कि बिहार में कोरोना वायरस संक्रमण तेजी से फैल रहा है. पिछले 24 घंटे में बिहार के सभी 38 जिलों में 1116 नए केस और नौ लोगों की मौत हो गई जिन्हें मिलाकर राज्य में इस महामारी में जान गंवाने वालों की संख्या 134 हो गई है. वहीं, इस अवधि में कोविड-19 के 1116 नए मरीज सामने आने के साथ राज्य में सोमवार को संक्रमितों की संख्या बढ़कर 17 हजार के पार चली गई है. फिलहाल बिहार में कोरोना मरीजों की कुल संख्या 17,421 है.

बिहार में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण के 1116 नये मामले रविवार को सामने आए. अब तक सबसे अधिक कोरोना मरीज राजधानी पटना में मिले हैं. यहां संक्रमितों की संख्या 2097 तक पहुंच गई है. इनके अलावा सिवान में 711, भागलपुर में 1074, नालंदा में 552 मामले हैं. बिहार में सबसे पहले भागलपुर और फिर पटना में 10 जुलाई से आंशिक लॉकडाउन लागू किया गया.

राजधानी पटना में कोरोना ने अपनी रफ्तार तेज कर दी है. यहां संक्रमितों की कुल संख्या 2097 हो गई है. वहीं जिले में कोरोना संक्रमण के केस बढ़ने के साथ ही कंटेनमेंट जोन की संख्या में भी इजाफा हुआ है. अब इसकी कुल संख्या बढ़ कर 90 हो गई है. पटना सिटी में 20 कंटेनमेंट जोन है. वहीं कंटेनमेंट जोन में घरों की कुल संख्या 15,981 तथा व्यक्तियों की कुल संख्या 74,476 है.

कोरोना के बढ़ते आतंक को लेकर राहुल गांधी ने फिर से केंद्र पर बोला हमला