Gujarat Exclusive > देश-विदेश > दिल्ली के राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर 6 युवकों को किया गया गिरफ्तार, लगा रहे थे आपत्तिजनक नारे

दिल्ली के राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर 6 युवकों को किया गया गिरफ्तार, लगा रहे थे आपत्तिजनक नारे

0
297

पिछले कुछ दिनों से दिल्ली में भड़की हिंसा अब धीरे-धीरे शांत हो रही है लेकिन देश की राजधानी में कई जगहों पर अभी भी माहौल तनावपूर्ण है. शनिवार दोपहर 12:30 बजे दिल्ली के राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर छह युवक आपत्तिजनक नारा लगाते दिखे, जिससे माहौल खराब हो सकता है. इनके नारा लगाने के बाद मुस्तैद पुलिस ने सभी 6 युवकों ने हिरासत में ले लिया है और उनसे पूछताछ की जा रही है.

इन युवकों ने ‘देश के गद्दारों को, गोली मारो…’ जैसा आपत्तिजनक नारा लगाया. खबरों के मुताबिक भगवा रंग की टी-शर्ट और कुर्ते पहने पांच से छह व्यक्तियों ने उस समय नारे लगाने शुरू कर दिए जब ट्रेन स्टेशन पर रुकने ही वाली थी. ट्रेन से उतरने के बाद भी इन लोगों ने सीएए के समर्थन में और ‘‘देश के गद्दारों को, गोली मारो…’’जैसे नारे लगाए. इस नारेबाजी से ये लोग यह संदेश देने की कोशिश कर रहे थे कि देश का युवा बाहर निकलकर सीएए का समर्थन कर रहा है. मेट्रो में सफर कर रहे कुछ यात्रियों ने जहां उनके साथ नारे लगाने शुरू कर दिए, वहीं कुछ यात्री घटना का वीडियो बनाने लगे.

दिल्ली दंगे की जांच शुरू

उधर उत्तर-पूर्वी जिले में हुई सांप्रदायिक हिंसा मामले की जांच दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच के विशेष जांच दल (एसआइटी) ने शुरू कर दी है. जांच के लिए क्राइम ब्रांच ने उत्तर-पूर्वी जिले के दो थाने भजनपुरा व खजूरी खास में अस्थायी कार्यालय बनाया है. यहां दोनों एसआइटी की टीमें अलग-अलग थानों में बैठकर विस्तृत तफ्तीश करेंगी. क्राइम ब्रांच के एडिशनल पुलिस कमिश्नर बीके सिंह के मुताबिक दोनों एसआइटी टीमों को जांच के लिए इलाके का बंटवारा कर दिया गया है. एसआइटी में शामिल पुलिसकर्मियों को अलग-अलग जिम्मेदारी सौंपी गई है. टीम के कुछ सदस्य जहां-जहां दंगे हुए उन इलाकों में जाकर सीसीटीवी फुटेज खंगाल रहे हैं. शुक्रवार को एसआइटी ने भजनपुरा, बृजपुरी, चांदबाग व करावल नगर में जाकर सीसीटीवी फुटेज खंगाले.

कई सुबूत मिले

अब तक 1500 सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा चुके हैं. इससे एसआइटी को काफी सुबूत मिल चुके हैं. जांच में शामिल अधिकतर पुलिसकर्मी स्थानीय थाना पुलिस के साथ मिलकर दंगाइयों की पहचान करने की कोशिश करने में जुट गए हैं. ताकि उन्हें जांच में शामिल होने के लिए नोटिस भेजा जा सके. कुछ टीमें चश्मदीदों की तलाश कर रही हैं, ताकि उन्हें गवाह बनाया जा सके. टीम जल्द ही इस मामले में गवाहों और आरोपितों को भी नोटिस जारी कर पूछताछ के लिए बुलाएगी.