Gujarat Exclusive > देश-विदेश > लोकसभा के बाद राज्यसभा की भी कार्यवाही 2 बजे तक के लिए स्थगित, दिल्ली हिंसा को लेकर विपक्ष एकजुट

लोकसभा के बाद राज्यसभा की भी कार्यवाही 2 बजे तक के लिए स्थगित, दिल्ली हिंसा को लेकर विपक्ष एकजुट

0
688

लोकसभा में दिल्ली हिंसा पर हंगामा होने से पहले ही अध्यक्ष ने कार्यवाही दोपहर 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया. इससे पहले लोकसभा में बिहार के जेडीयू संसद बैद्यनाथ महतो के निधन पर शोक व्यक्त किया गया. फिर जैसे ही कार्यवाही शुरू हुई संगरूर से AAP सांसद भगवंत मान वेल की तरफ बढ़े. इसी दौरान कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने भी कुछ बोलना शुरू किया. जिसके बाद हंगामे की आशंका को देखते ही लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी. जिसके बाद राज्यसभा में दिल्ली हिंसा को लेकर हंगामा हुआ. कांग्रेस सांसद गुलाम नबी आजाद ने कहा कि तीन दिन दिल्ली में हिंसा हुई, सरकार सोती रही और कोई कार्रवाई नहीं हुई. हंगामे के बाद राज्यसभा की कार्यवाही भी 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई.

कांग्रेस समेत कई दलों ने दिया था स्थगन प्रस्ताव का नोटिस

कांग्रेस समेत कई विपक्षी दल ने लोकसभा में इस मुद्दे पर चर्चा को लेकर स्थगन प्रस्ताव दिया था। बता दें कि कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने दिल्ली दंगों पर गृह मंत्री अमित शाह से इस्तीफा मांगा था। कई अन्य विपक्षी दलों ने भी शाह को हिंसा मामले में घेरा था।

आज से शुरू हुआ बजट का दूसरा चरण

संसद के बजट सत्र का दूसरा चरण आज से शुरू हो रहा है। विपक्ष ने सरकार को घेरने के लिए तगड़ी घेराबंदी कर रखी है। लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी और के सुरेश ने दिल्ली हिंसा पर स्थगन प्रस्ताव का नोटिस दिया है।

विपक्ष एक एकजुट होकर सरकार को घेरने की कोशिश

आम आदमी पार्टी (AAP) ने दिल्ली दंगों के विरोध में संसद भवन में गांधी जी की मूर्ति के सामने विरोध किया. इससे पहले पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने दिल्ली दंगों को लेकर सदन में नियम 267 के तहत स्थगन प्रस्ताव का नोटिस दिया. वहीं दिल्ली दंगों के लेकर टीएमसी के सांसदों ने आंखों पर पट्टी बांधकर प्रदर्शन किया. सांसद काली पट्टी बांधकर विरोध जता रहे हैं. कई अन्य दलों ने दिया नोटिस सीपीएम, सीपीआई, डीएमके और एनसीपी ने दिल्ली दंगों पर लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव का नोटिस दिया है.