Gujarat Exclusive > देश-विदेश > महात्मा गांधी पर अनंत हेगड़े के विवादित बयान पर लोकसभा में हंगामा

महात्मा गांधी पर अनंत हेगड़े के विवादित बयान पर लोकसभा में हंगामा

0
285

नई दिल्ली : संसद में चल रहे बजट सत्र के दौरान मंगलवार को जमकर हंगामा हुआ. विपक्ष ने सत्र में बजट के अलावा कई दूसरे मुद्दों पर भी हंगामा किया. हंगामे के चलते लोकसभा स्पीकर ने सदन की कार्यवाही को 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया. महात्मा गांधी पर बीजेपी सांसद अनंत हेगड़े की विवादित बयान को लेकर लोकसभा में कांग्रेस सहित कुछ विपक्षी दलों के भारी हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही आरंभ होने के कुछ ही मिनट बाद दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित करनी पड़ी.

संसद की कार्यवाही शुरू होने के बाद कांग्रेस सांसद गौरव गोगोई, के सुरेश, अब्दुल खालिक और हिबी इदीन ने लोकसभा में अनंत हेगड़े के विवादित बयान पर स्थगन प्रस्ताव दिया. मालूम हो कि बीजेपी सांसद अनंत हेगड़े ने गांधी के सत्याग्रह को ड्रामा कहा था. ऐसी भी खबरें थीं कि बीजेपी ने हेगड़े से उनके बयान पर माफी मांगने को कहा था. खबरों के मुताबिक, संसदीय दल की मीटिंग में बीजेपी सांसद अनंत हेगड़े को नहीं बुलाया गया क्योंकि बीजेपी के कुछ सीनियर नेता उनके महात्मा गांधी पर दिए बयान से नाराज हैं.

विवाद तब बढ़ गया था जब हेगड़े कहा था कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के नेतृत्व वाला स्वतंत्रता आंदोलन अंग्रेजों के साथ एक ‘सामंजस्य’ था. हेगड़े ने बेंगलुरु में हुए एक कार्यक्रम में गांधी का मजाक उड़ाते हुए कहा कि जिन स्वतंत्रता सेनानियों ने देश के लिए कुछ बलिदान नहीं दिया, उन्होंने देश को विश्वास दिलाया कि भारत को आज़ादी ‘उपवास सत्याग्रह’ के जरिए मिली है और वे महापुरुष बन गए. ‘उपवास सत्याग्रह’ गांधीवादी आंदोलन का तरीका है. उत्तर कन्नड़ से छह बार लोकसभा सदस्य रहे 51 वर्षीय हेगड़े ने कहा था कि ‘जिन्होंने अपना जीवन बलिदान कर दिया और देश में बड़े सुधारों की दिशा में काम किया, उन्हें इतिहास के अंधेरे कोने में फेंक दिया गया, लेकिन जो अंग्रजों के साथ ‘सामंजस्य’ कर लड़े, वे प्रमाणपत्र के साथ स्वतंत्रता सेनानी बन गए. यह देश की त्राासदी है.’