Gujarat Exclusive > देश-विदेश > बैठक में किसानों ने सरकार का लंच ठुकराया, लंगर से आया खाना खाया

बैठक में किसानों ने सरकार का लंच ठुकराया, लंगर से आया खाना खाया

0
405

केंद्र सरकार के साथ किसानों के प्रतिनिधी आज विज्ञान भवन में बातचीत करने के लिए पहुंचे हैं. इस दौरान सरकार और किसानों की इस बैठक के दौरान एक अनोखा नजारा भी देखने को मिला. दरअसल दोपहर 12 बजे से शुरू हुई बैठक में कुछ देर का ब्रेक (Lunch) हुआ. ब्रेक (Lunch) के दौरान सरकार की ओर से किसान नेताओं के लिए खाने पीने (Lunch) का इंतजाम किया गया था. लेकिन किसान नेताओं ने सरकार की ओर से खाने के इंतजाम (Lunch) को ठुकरा दिया.

किसान नेताओं ने अपने लिए लंगर से खाना (Lunch) मंगवाया और वहीं जमीन पर बैठकर खाना खाया. किसानों के लिए राजमा-चावल, सब्ज़ी पूरी और दाल-सब्ज़ी रोटी लंगर (Lunch) से लाई गई थी. इसके साथ ही एक ड्रम चाय भी लाई गई है. किसानों ने अपना लंगर एम्बुलेंस से मंगवाया.

यह भी पढ़ें: अमित शाह से मिले कैप्टन अमरिंदर, कहा- किसान-केंद्र की बातचीत से मेरा कोई लेना देना नहीं

12 बजे शुरू हुई थी बैठक

दिल्ली के विज्ञान भवन में ये बातचीत दोपहर 12 बजे शुरू हुई. विज्ञान भवन में चल रही बैठक में किसान अपनी समस्या बिंदुवार प्रेजेंटेशन में समझा रहे हैं. जानकारी है कि सरकार और किसान प्रतिनिधि एक-एक बिंदु पर बात कर रहे हैं. कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और रेलमंत्री पीयूष गोयल भी मौजूद हैं. नरेंद्र तोमर ने मीटिंग के पहले कहा कि उनकी आशा है कि बातचीत से सकारात्मक नतीजे निकलकर आएं.

दिल्ली बॉर्डर पर डटे हुए हैं किसान

मालूम हो कि कृषि बिल के विरोध में किसान राष्ट्रीय राजधानी से लगी सीमाओं पर डटे हैं और सरकार से नए कृषि कानून वापस लेने की मांग कर रहे हैं. उनमें से ज्यादातर किसान पंजाब से हैं. इससे पहले किसानों ने चेतावनी भरे लहजे में कहा है कि यदि तीनों किसान कानूनों को रद्द नहीं किया गया तो वे दिल्‍ली के रास्‍ते ब्‍लॉक कर देंगे. उधर अब तमाम राजनीति दलों से भी किसानों को साथ मिलने लगा है. इसी बीच पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने गुरुवार को गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें