Gujarat Exclusive > राजनीति > ममता पर फिर बरसे राज्यपाल धनखड़, लगाया काबिल नौकरशाहों की उपेक्षा का आरोप

ममता पर फिर बरसे राज्यपाल धनखड़, लगाया काबिल नौकरशाहों की उपेक्षा का आरोप

0
624
  • राज्यपाल और ममता बनर्जी के बीच जारी शीतयुद्ध खुलकर सामने आया
  • काबिल नौकशाहों को दरकिनार करने का लगाया आरोप
  • कहा कि राजनैतिक निष्पक्षता होना चाहिए जल्द से जल्द खत्म
  • इससे पहले भी राज्यपाल धनखड़ लगा चुके हैं ममता सरकार पर कई आरोप

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल और ममता बनर्जी के बीच होने वाला विवाद गहराता जा रहा है. ममता और राज्यपाल जगदीप धनखड़ के बीच होने वाली तनातनी एक बार फिर से लोगों के सामने आ गया है.

उन्होंने ट्वीट कर ममता सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि काबिल सरकारी अधिकारियों को दरकिनार किया जा रहा है.

इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि जो अधिकारी राजनैतिक मोहरा बनने को तैयार हैं वह ही आगे हैं.

ट्वीट कर ममता सरकार को बनाया निशाना

इस मामलों को लेकर उन्होंने एक अन्य ट्वीट करते हुए कहा कि “IAS और IPS अधिकारी इस बीमारी पर ध्यान दें.

राजनैतिक निष्पक्षता खत्म होना, कानून और संविधान के शासन पर कायम नहीं रहना ही इसका नतीजा होता है.

उन्होंने कहा कि परिणामस्वरूप असीमित असंवैधानिक रुख के साथ ‘पुलिस स्टेट’ गवर्नेन्स लागू होता है और लोकतांत्रिक ढांचे का विनाश हो जाता है.”

राज्यपाल ने अपने इस ट्वीट को ममता बनर्जी को भी टैग किया है.

एक अन्य ट्वीट में लगाया गंभीर आरोप

जगदीप धनखड़ ने एक अन्य ट्वीट में लिखा कि “जब आप उदास होते हैं तो आपका दिमाग डर और शर्म से भरा हुआ होता है.

उन्होंने कहा कि राज्य में माओवाद का खात्मा हो रहा है लेकिन जिस तरीके से अवैध बम का उद्योग फल फूल रहा है वह बिना किसी राजनैतिक समर्थन के संभव नहीं है.

विवेकानंद को याद करें इससे पहले कि बहुत देर हो जाए.”

यह भी पढ़ें: केंद्र पर राहुल गांधी का तंज, देश की संपत्ति को बेच रही है मोदी सरकार

पश्चिम बंगाल राजभवन की हो रही है जासूसी

इससे पहले राज्यपाल ने ममता सरकार पर एक ओर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि राजभवन की जासूसी की जा रही है. हांलकि जासूसी का आरोप राज्यपाल धनखड़ ने किस पर लगाया है इसके बार में जानकारी नहीं मिली है.

लेकिन उनका इशारा ममता सरकार की ओर जरूर है. धनखड़ ने एक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि “मैं आप सभी को बताना चाहता हूं कि राजभवन सर्विलांस पर है.

यह राजभवन की पवित्रता को कमजोर करता है. लेकिन मैं इसकी पवित्रता की रक्षा के लिए सब कुछ करूंगा.”

जासूसी मामले की हो रही है जांच

जासूसी का आरोप लगाते हुए राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने ममता बनर्जी का नाम लिए बिना कहा कि राजभव की जासूली को वह किसी भी हालत में बर्दाश्त नहीं करेंगे.

ऐसा करने वाले लोगों को सजा मिलनी चाहिए. इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि मामले को लेकर जांच शुरू की गई है ताकि जल्द से जल्द सच्चाई लोगों के सामने आ सके.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

कोरोना के बढ़ते आतंक के बीच, WHO ने कहा-अगली महामारी के लिए रहना होगा तैयार