Gujarat Exclusive > राजनीति > शरद पवार से मिलने के बाद बोलीं ममता, फासीवाद से लड़ने के लिए एकजुट होने की जरूरत

शरद पवार से मिलने के बाद बोलीं ममता, फासीवाद से लड़ने के लिए एकजुट होने की जरूरत

0
134

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में भव्य जीत के बाद तृणमूल कांग्रेस लगातार अपने पैर पसारने की कोशिश कर रही है. बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बीते दिनों दिल्ली का दौरा करने के आज मुंबई के दौरे पर है. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार से मुलाकात के बाद ममता ने कहा कि मैं महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे और शरद पवार से मुलाक़ात करने के लिए आईं थीं. आज देश में जैसा फासीवाद चल रहा है, इसके ख़िलाफ़ देश में एक मज़बूत वैकल्पिक फोर्स बनाना चाहिए. इसलिए मैं शरद पवार के पास राजनीतिक चर्चा करने के लिए आईं हुईं हूं.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मुलाकात के बाद एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा कि हमारी ममता बनर्जी के साथ बातचीत हुई. आज की स्थिति में राष्ट्रीय स्तर पर समान विचारधारा वाले दलों को एक साथ आना चाहिए और सामूहिक नेतृत्व के लिए एक मजबूत विकल्प तैयार करना चाहिए. हम 2024 के आम चुनाव के बारे में भी सोच रहे हैं.

शरद पवार और ममता के बीच होने वाली बैठक को लेकर शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि ममता बनर्जी का शरद पवार से मिलना बड़ी बात है. शरद पवार इस समय के सबसे बड़े और अनुभवी नेता हैं. उनका मार्गदर्शन और उनसे चर्चा होती है तो जरूर कुछ अच्छा निकल कर सामने आएगा. हम सबको एक साथ आकर ही मुकाबला करना होगा.

दोनों नेताओं के बीच हुई मुलाकात को लेकर BJP के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि ममता बनर्जी सबको डॉमिनेट करने की राजनीति कर रही हैं. वो गोवा, हिमाचल या उत्तर प्रदेश कहीं भी जाएं लेकिन उन्हें कुछ नहीं मिलेगा. बंगाल को लूट कर पूरे देश में TMC को फैलाने का जो प्रयास हो रहा है उससे बंगाल के लोग खुश नहीं हैं ममता बनर्जी के साथ है कौन? अभी महाराष्ट्र गई थीं अच्छी बात है, बंगाल में जो हिंसा और हत्या की राजनीति हो रही है उसका पाप धोने का मौका चाहिए. मुझे नहीं लगता है कि वहां उन्हें कोई बड़े नेता मिलेंगे. सभी बड़े नेताओं ने उनसे दूरी बना के रखी है.

भीमा कोरेगांव मामले में सुधा भारद्वाज को बड़ी राहत, बॉम्बे हाई कोर्ट ने दी जमानत