Gujarat Exclusive > देश-विदेश > चुनाव से पहले ममता का बड़ा ऐलान, बंगाल में रहने वाले सारे बांग्लादेशी भारतीय नागरिक

चुनाव से पहले ममता का बड़ा ऐलान, बंगाल में रहने वाले सारे बांग्लादेशी भारतीय नागरिक

0
411

नागरिकता संशोधन कानून (CAA)और राष्ट्रीय नागरिक पंजीयन (NRC) पर देश भर में विरोध प्रदर्शन के बीच पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सूबे में रह रहे सभी बांग्लादेशियों को भारतीय नागरिक बनने का रास्ता साफ कर दिया है. उन्होंने बांग्लादेशी शरणार्थियों की 119 बस्तियों को नियमित करते हुए दो टूक कहा दिया कि बांग्लादेश से आए सभी शरणार्थी भारतीय नागरिक हैं और उन्हें नागरिकता कानून से डरने की जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा कि यदि बांग्लादेशी शरणार्थियों के पास वोटर आई कार्ड, जमीन का पट्टा और घर का पता है, तो सभी भारतीय नागरिक हैं.

उत्तर दिनाजपुर के कालियागंज में एक चुनावी रैली में ममता बनर्जी ने यह बड़ी घोषणा की. ममता बनर्जी ने राज्य में 119 शरणार्थी कॉलोनियों को नियमित कर दिया और कहा कि वहां रहने वाले लोग भारतीय हैं तथा उनकी नागरिकता नहीं छीनी जा सकती. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें नए सिरे से नागरिकता हासिल करने की जरूरत नहीं है. विभाजन और 1971 के बांग्लादेश मुक्ति युद्ध के दौरान पाकिस्तान से लाखों हिंदू और मुस्लिम विस्थापित होकर पश्चिम बंगाल आए थे.

बनर्जी ने यहां एक जनसभा में कहा, वे सभी भारतीय हैं. कोई भी शरणार्थियों की नागरिकता नहीं छीन पाएगा. उन्हें नए सिरे से नागरिकता देने की कोई जरूरत नहीं है. आप सभी इस देश के नागरिक हैं, भाजपा के झूठे बयानों से गुमराह न हों. लोगों के पास आवासीय पते का सबूत, मतदाता पहचान पत्र, राशन कार्ड और उन्हें भाजपा के नागरिकता प्रमाणपत्र की जरूरत नहीं है.