Gujarat Exclusive > गुजरात > मुंबई से अंकलेश्वर-केवडिया के बीच ट्रेन शुरू नहीं होने पर मैं सार्वजनिक जीवन छोड़ दूंगा: मनसुख वसावा

मुंबई से अंकलेश्वर-केवडिया के बीच ट्रेन शुरू नहीं होने पर मैं सार्वजनिक जीवन छोड़ दूंगा: मनसुख वसावा

0
301

विशाल मिस्त्री, राजपिपणा: बीते दिनों सरकार द्वारा कई रेलवे लाइनों को बंद कर दिया गया है. अंकलेश्वर और राजपिपणा के बीच करोड़ रुपये की लागत से शुरू की गई रेल सर्विसे को भारी नुकसान के कारण बंद कर दिया गया है. Mansukh Vasava made a big claim

केवडिया स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के वर्ल्ड क्लास रेलवे स्टेशन का हाल ही में पीएम मोदी ने उद्घाटन किया था.

उस समय राजपिपणा के लोगों को उम्मीद थी कि राजपिपणा को भी केवडिया रेलवे लाइन से जोड़ दिया जाएगा.

मनसुख वसावा ने किया बड़ा दावा

लेकिन ऐसी कोई उम्मीद इन दिनों नहीं दिख रही जिसकी वजह से राजपिपणा के लोगों में नाराजगी का माहौल पैदा हो गया है. Mansukh Vasava made a big claim

इतना ही नहीं राजपिपणा के कई बड़े व्यापारियों ने अंकलेश्वर से राजपिपणा रेलवे लाइन को केवडिया रेलवे से जोड़ने के लिए भाजपा सांसद मनसुख वसावा से लिखित में आवेदन पत्र देकर मांग किया था.

इस मामले को लेकर मनसुख वसावा ने कहा कि मैं इस मुद्दे को संसद में उठाउंगा.

मुंबई से अंकलेश्वर- केवडिया तक ट्रेन शुरू करना मेरी जिम्मेदारी Mansukh Vasava made a big claim

इस सिलसिले में जानकारी देते हुए बीजेपी सांसद मनसुख वसावा ने कहा, ” मैंने स्टैच्यू ऑफ यूनिटी क्षेत्र के स्थानीय लोगों को रोजगार दिलाने के लिए अधिकारियों के साथ लड़ाई लड़ी है.”

मैं एक गैर-भ्रष्ट व्यक्ति हूं इसलिए मैं किसी से नहीं डरता. हम राजपीपला को एक मिनी कश्मीर बनाएंगे. दुनिया भर के पर्यटक स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को देखने के लिए आ रहे हैं.

जिस तरह से मुंबई से वड़ोदरा और केवडिया के लिए ट्रेनें आती हैं. Mansukh Vasava made a big claim

उसी तरह मुंबई से अंकलेश्वर और केवडिया के बीच ट्रेनों को चलाने के लिए ब्रॉड गेज लाइन के लिए दक्षिण गुजरात के सांसद और महाराष्ट्र के सांसदों के साथ परामर्श चल रहा है.

अगले 4-5 वर्षों में मुंबई से अंकलेश्वर और केवडिया तक ट्रेन शुरू करना मेरी जिम्मेदारी है. अगर मुंबई से अंकलेश्वर-केवडिया के लिए ट्रेन शुरू नहीं हुई, तो मैं सार्वजनिक जीवन छोड़ दूंगा.

मुंबई से आने वाले व्यक्ति को वडोदरा से केवडिया जाने फायदेमंद नहीं लेकिन अंकलेश्वर से जाना फायदेमंद साबित होता है.

हमने सरकार को यहां की भौगोलिक स्थिति के बारे में सूचित किया है. इस एजेंडे को सरकार ने भी स्वीकार कर लिया है. Mansukh Vasava made a big claim

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

अल्पेश ठाकोर का बड़ा दावा, कांग्रेस के कई विधायक बीजेपी में शामिल होने को आतुर