Gujarat Exclusive > देश-विदेश > चेन्नई में CAA के खिलाफ प्रदर्शन, पुलिस की मंजूरी के बिना हजारों की संख्या में सड़कों पर उतरे लोग

चेन्नई में CAA के खिलाफ प्रदर्शन, पुलिस की मंजूरी के बिना हजारों की संख्या में सड़कों पर उतरे लोग

0
187

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ देश के कई राज्यों में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. इसी सिलसिले में तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में सीएए, राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) के विरोध में लोग सड़क पर उतरे. लोग राज्य सचिवालय के बाहर जबरदस्त धरना प्रदर्शन कर रहे हैं. इस प्रदर्शन में करीब 15,000 लोग शामिल होने की बात कही जा रही है जिसमें ज्यादातर मुस्लिम हैं.

दिल्ली के शाहीन बाग की ही तरह चेन्नई में भी महिलाएं सीएए, एनआरसी और एनपीआर का विरोध कर रही हैं. आज प्रदर्शनकारी फोर्ट सेंट जॉर्ज में सचिवालय तक मार्च निकाल रहे हैं. प्रदर्शनकारियों की मांग है कि तमिलनाडु विधानसभा भी सीएए के खिलाफ प्रस्ताव पारित करे. रैली की शुरुआत कलिवानर आरंगम से हुई.

सीएए के खिलाफ निकाले गए मार्च में हजारों की संख्या में महिलाएं शामिल हैं. 14 फरवरी को चेन्नई के वाशरमेनपेट में प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज के बाद शहर में महिलाओं ने पुलिस की ज्यादती के खिलाफ धरना-प्रदर्शन का आयोजन किया और लाठीचार्ज में शामिल अफसरों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की.

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री पलानीस्वामी ने 14 फरवरी को चेन्नई के वाशरमेनपेट में प्रदर्शनकारियों के खिलाफ पुलिस की कार्रवाई का बचाव किया है. उन्होंने कहा कि पुलिस ने बिना इजाजत विरोध प्रदर्शन करने के लिए लोगों को गिरफ्तार किया था और कहा कि सरकार को जानकारी मिली थी कि कुछ लोग विरोध प्रदर्शनों को उकसा रहे हैं.