Gujarat Exclusive > देश-विदेश > प्रदर्शनकारियों से दोबारा मिलने पहुंचे वार्ताकार साधना रामचंद्रन ने कहा, ‘शाहीन बाग है और बरकरार रहेगा’

प्रदर्शनकारियों से दोबारा मिलने पहुंचे वार्ताकार साधना रामचंद्रन ने कहा, ‘शाहीन बाग है और बरकरार रहेगा’

0
270

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग में पिछले दो महीने से विरोध प्रदर्शन जारी है. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद गुरुवार को दोबारा दोनों वार्ताकार प्रदर्शनकारियों से बात करने पहुंचे. इस दौरान वार्ताकार साधना रामचंद्रन ने कहा कि हम चाहते हैं रास्ता भी खुले और आंदोलन भी चलता रहा. अगर बात नहीं बनी तो मामला फिर सुप्रीम कोर्ट जाएगा. वहीं, संजय हेगड़े ने कहा कि हम चाहते हैं कि शाहीन बाग का प्रदर्शन देश के लिए मिसाल हो. जब तक सुप्रीम कोर्ट है आपकी बात सुनी जाएगी.

साधना रामचंद्रन ने कहा कि आप ने हमें बुलाया था, इसलिए हम आए हैं. आप लोगों के जो मुद्दे हैं वो सुप्रीम कोर्ट पहुंचे चुके हैं. आपके सवाल सुप्रीम कोर्ट के सामने हैं. सुप्रीम कोर्ट में CAA पर सुनवाई होनी है. सुप्रीम कोर्ट मानता है कि आंदोलन आपका हक है. शाहीन बाग है और शाहीन बाग बरकरार रहेगा. हमें कोर्ट ने सड़क को लेकर बातचीत के लिए भेजा है.

प्रदर्शन देश के लिए मिसाल बने

वार्ताकार संजय हेगड़े ने कहा कि प्रदर्शन से किसी को परेशानी नहीं होनी चाहिए. हम चाहते हैं कि शाहीन बाग का प्रदर्शन देश के लिए मिसाल हो. जब तक सुप्रीम कोर्ट है आपकी बात सुनी जाएगी. आप पिछले 2 महीनों से बैठे हुए हैं, हम भारत में एक साथ रहते हैं ताकि दूसरों को असुविधा न हो. वार्ताकार जब मंच से संबोधित कर रहे थे, उस वक्त मीडिया को दूर रखा गया था. शाहीन बाग के दोनों वार्ताकारों का कहना है कि जबतक वहां मीडिया रहेगी हम वहां नहीं जाएंगे.

‘ऐसी कोई समस्या नहीं, जिसका समाधान नहीं’

साधना रामचंद्रन ने कहा कि ऐसी कोई समस्या नहीं है, जिसका समाधान नहीं हो सकता. हम हल निकालने की कोशिश करना चाहते हैं. हम चाहते हैं रास्ता भी खुले और आंदोलन भी चलता रहा. अगर बात नहीं बनी तो मामला फिर सुप्रीम कोर्ट जाएगा. मालूम हो कि सुप्रीम कोर्ट की ओर से वकील संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन को बतौर वार्ताकार नियुक्त किया गया है जो शाहीन बाग प्रदर्शनकारियों से बात करेंगे और सुप्रीम कोर्ट तक उनकी बात पहुचाएंगे.