Gujarat Exclusive > राजनीति > महबूबा मुफ्ती का दावा मुझे फिर से अवैध रूप में हिरासत में लिया गया, बेटी को भी किया नजरबंद

महबूबा मुफ्ती का दावा मुझे फिर से अवैध रूप में हिरासत में लिया गया, बेटी को भी किया नजरबंद

0
204

जम्मू-कश्मीर मामले को लेकर अक्सर विवादित बयान देने वाली पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने शुक्रवार को दावा किया कि उनको फिर से अवैध तरीके से हिरासत में ले लिया गया है.

उन्होंने दावा किया कि उनकी बेटी इल्तिजा को हाउस अरेस्ट कर दिया गया है. वह पिछले दो दिनों से अपने घर में बंद हैं.Mehbooba Mufti custody

मुफ्ती ने कहा पीडीपी नेता वहीद पारा के परिवार से मिलने की अनुमति नहीं दी जा रही है.Mehbooba Mufti custody

वहीद पारा के परिजन से प्रशासन मिलने की नहीं दे रही अनुमित  Mehbooba Mufti custody

गौरतलब है कि पीडीपी के युवा विंग के अध्यक्ष और पूर्व कैबिनेट मंत्री वहीद पारा को बुधवार को राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने हिजबुल मुजाहिद्दीन कमांडर नवीद बाबू से जुड़े एक आतंकी मामले में उनके कथित संबंधों के लिए गिरफ्तार किया था. Mehbooba Mufti custody

पारा ने दक्षिण कश्मीर के पुलवामा से आगामी जिला विकास परिषद चुनावों के लिए अपना नामांकन दाखिल किया था.पारा को मुफ्ती का करीबी माना जाता है घाटी में वह एक लोकप्रिय चेहरा हैं.

यह भी पढ़ें: BMC को लगा हाईकोर्ट से बड़ा झटका, दफ्तर तोड़ने पर कंगना को देना होगा हर्जाना

महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट कर हिरासत में लेने की दी जानकारी Mehbooba Mufti custody

इस सिलसिले में महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट कर लिखा मुझे एक बार फिर से अवैध रूप से हिरासत में ले लिया गया है. मुझे पारा के परिवजन से मिलने की अनुमित नहीं दी जा रही.

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा कि मेरी बेटी इल्तिजा को भी घर में नजरबंद रखा गया है क्योंकि वह भी वहीद के परिवार से मिलना चाहती थीं. Mehbooba Mufti custody

मुफ्ती ने भाजपा पर हमला बोलते हुए लिखा कि उनके मंत्रियों को कश्मीर के हर कोने में घूमने की अनुमति है, लेकिन मेरे लिए सुरक्षा का सवाल खड़ा हो जाता है.

अक्सर देती रहती हैं विवादित बयान

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने एकबार फिर एक विवादित बयान दिया है. महबूबा मुफ्ती ने कहा कि जब नौकरी नहीं होगी तो यहां के लड़के बंदूक ही उठाएंगे.

राज्य में खिसकती सियासी जमीन पर अपनी बौखलाहट दिखाते हुए महबूबा मुफ्ती ने कहा कि 370 हटाने के बाद बीजेपी की मंशा जम्मू-कश्मीर की जमीन और नौकरी छीनने की है.

मुफ्ती ने कहा कि घाटी में युवाओं को रोजगार नहीं मिला है. इसलिए अब उनके सामने हथियार उठाने के अलावा कोई ऑप्शन नहीं है. आतंकी कैंप में ऐसे लोगों की भर्तियां बढ़ने लगी हैं.

उन्होंने आगे कहा, ‘डोगरा संस्कृति को बचने के लिए 370 था. कहीं डोगरा संस्कृति ही लुप्त न हो जाए. चाहे मुल्क का झंडा हो या जम्मू कश्मीर का झंडो हो.

वह हमें संविधान ने दिया था. इन्होंने हमसे वह झंडा छीन लिया.’Mehbooba Mufti custody

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

कृषि कानून विरोध: सिंधु बॉर्डर पर पुलिस और किसानों के बीच झड़प, छोड़े गए आंसू गैस के गोले