Gujarat Exclusive > देश-विदेश > जम्मू-कश्मीर मुद्दे को धार्मिक रंग देना चाहती हैं महबूबा मुफ्ती, केंद्र को बताया मुस्लिम विरोधी

जम्मू-कश्मीर मुद्दे को धार्मिक रंग देना चाहती हैं महबूबा मुफ्ती, केंद्र को बताया मुस्लिम विरोधी

0
437

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने केंद्र सरकार पर धारा 370 के बहाने मुस्लिमों की जमीन को हड़पने का आरोप लगाया.

इतना ही नहीं उन्होंने केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि जम्मू- कश्मीर के मुस्लिमों की जमीन केंद्र सरकार छीनकर अपने पूजींपति समर्थकों को बेचना चाहती है.

केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर से पिछले साल धारा 370 को हटा दिया था. Mehbooba Mufti targeted

केंद्र की मोदी सरकार मुस्लिम विरोधी का लगाया आरोप Mehbooba Mufti targeted

पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ़्ती ने सोमवार को दक्षिण कश्मीर के पहलगाम के जंगलों में रहने वाले गुज्जर और बकरवाल समुदाय के लोगों से मिलने गई थी.

इस समुदाय के लोगों के कोठार को पिछले दिनों वन विभाग ने तहस नहस कर दिया था. Mehbooba Mufti targeted

इस मौके पर महबूबा मुफ्ती ने केंद्र सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी की सरकार जम्मू-कश्मीर में मुसलमानों को निशाना बना रही है.

यह भी पढ़ें: दिल्ली पुलिस ने जैश-ए-मुहम्मद के दो संदिग्ध आतंकियों को किया गिरफ्तार

केंद्र निशाना बनाने नहीं छोड़ेगी तो हिंसा पर उतर जाएंगे लोग

इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाकर जम्मू-कश्मीर में अन्य लोगों को बसाना चाहती है और कश्मीरियों को जो यहां सालों से रहते हैं उन्हे भगाना चाहती है.

इतना ही नहीं इस मौके पर उन्होंने केंद्र को धमकी देते हुए कहा कि अगर सरकार इनका निशाना बनाना नहीं छोड़ेगी तो संभव है कि यह लोग भी अमन और शांति का रास्ता छोड़कर हिंसा करने पर उतर जाएंगे. Mehbooba Mufti targeted

अक्सर देती रहती हैं विवादित बयान

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने एकबार फिर एक विवादित बयान दिया है. महबूबा मुफ्ती ने कहा कि जब नौकरी नहीं होगी तो यहां के लड़के बंदूक ही उठाएंगे.

राज्य में खिसकती सियासी जमीन पर अपनी बौखलाहट दिखाते हुए महबूबा मुफ्ती ने कहा कि 370 हटाने के बाद बीजेपी की मंशा जम्मू-कश्मीर की जमीन और नौकरी छीनने की है.

मुफ्ती ने कहा कि घाटी में युवाओं को रोजगार नहीं मिला है. इसलिए अब उनके सामने हथियार उठाने के अलावा कोई ऑप्शन नहीं है. आतंकी कैंप में ऐसे लोगों की भर्तियां बढ़ने लगी हैं.

उन्होंने आगे कहा, ‘डोगरा संस्कृति को बचने के लिए 370 था. कहीं डोगरा संस्कृति ही लुप्त न हो जाए. चाहे मुल्क का झंडा हो या जम्मू कश्मीर का झंडो हो.

वह हमें संविधान ने दिया था. इन्होंने हमसे वह झंडा छीन लिया.’ Mehbooba Mufti targeted

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

महबूबा मुफ्ती का भड़काऊ बयान, कहा- नहीं मिलेगी नौकरी तो युवा उठाएंगे ही हथियार