Gujarat Exclusive > गुजरात > भूख और प्यास की मजबूरी में हिंसक हुए प्रवासी मजदूर, राजकोट में किया हंगामा

भूख और प्यास की मजबूरी में हिंसक हुए प्रवासी मजदूर, राजकोट में किया हंगामा

0
1727

राजकोट: कोरोना वायरस के बढ़ते आतंक पर लगाम कसने के लिए देश में तीसरे चरण का लॉकडाउन शुरू हो गया है. लेकिन सरकार के कुप्रबंधन के कारण कई श्रमिक विशेष ट्रेनें चलाने के बावजूद अपने गृहनगर नहीं लौट पा रहे हैं. ऐसे में पिछले काफी दिनों से हालात के मारे प्रवासी मजदूर राजकोट के पास गोंडल चोकड़ी के पास जमा होकर घर के लिए आंदोलन शुरु कर दिया जो धीरे-धीरे हिंसक रूप ले लिया है. राजकोट के गोंडल चोकड़ी के पास जमा हुए प्रवासी मजदूर घर जाने की दृढ़ मांग को लेकर कई जगहों पर तोड़फोड़ भी किया.

मिल रही जानकारी के अनुसार राजकोट के गोंडल में प्रवासी मजदूरों घर वापसी की मांग को लेकर एक जगह पर जमा हुए और जमकर हंगामा किया इस भीड़ में से कुछ लोगों ने आसपास तोड़फोड़ भी किया जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस की टीम ने हालात को काबू में करने के लिए इन तमाम लोगों को समझाने की कोशिश कर रही है लेकिन ये प्रवासी मजदूर घर वापसी की मांग पर रास्तों पर डंटे हुए हैं.

उत्तर प्रदेश और बिहार के रहने वाले इन मजदूरों का आरोप है कि उन्हें राशन, खाना नहीं मिल रहा है. कोई काम नहीं ऐसे में उन्हें घर भेजा जाए. सरकार कई राज्यों से स्पेशल ट्रेन चलाकर मजदूरों को उनके जिले में भेज रही हैं. लेकिन, कई जगह पर मजदूरों के सब्र का बांध टूट चुका है. उन्हें बस घर जाना है, लेकिन ये प्रदर्शन जहां सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाई जा रही है उनके और दूसरों के लिए घातक साबित हो सकती है. गुस्सा हुए मजदूरों के मांग के सामने पुलिस उनके घर वापसी को लेकर कागजी कार्रवाई शुरू कर दी है.

लैबों को RTPCR टेस्ट करने से पहले स्वास्थ्य अधिकारी की लेनी होगी मंजूरी, किट की उपलब्धता पर सवाल