Gujarat Exclusive > देश-विदेश > PubG सहित 275 अन्य चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने की तैयारी में केंद्र सरकार

PubG सहित 275 अन्य चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने की तैयारी में केंद्र सरकार

0
520
  • चीन को एक और झटका देने के लिए भारत तैयार
  • मोदी सरकार मोबाइल ऐप्स को लेकर बना रही है सख्त नियम
  • सरकार ने 275 चीनी ऐप की तैयार की लिस्ट
  • इससे पहले भी देश में 59 चीनी ऐप्स पर लगा चुकी है प्रतिबंध

नई दिल्ली: देश में 59 चीनी ऐप्स बैन(Chinese Apps) किए जाने के बाद अन्य 275 चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने के लिए सूची तैयार की गई है.

इन ऐप्स की जांच राष्ट्रीय सुरक्षा और उपयोगकर्ताओं की गोपनीयता भंग करने के लिए की जाएगी.

इसी लिए मोदी सरकार ने PubG सहित 275 अन्य चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने की तैयारी कर रही है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, नई लिस्ट में गेमिंग ऐप PubG भी शामिल है.

इसके अलावा, ई-कॉमर्स दिग्गज अलीबाबा के अली एक्सप्रेस ऐप रेस्सो और यू लाइक भी शामिल हैं.

सरकार भारत में सूची में शामिल सभी ऐप्स पर प्रतिबंध लगा सकती है.

गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ने नहीं की टिप्पणी

इस मामले को लेकर गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ने कोई टिप्पणी नहीं की.

हालांकि सूत्रों ने कहा कि चीनी ऐप की लगातार समीक्षा की जा रही है और इसकी फंडिंग भी जांच के दायरे में है.

इनमें से कुछ ऐप्स को सुरक्षा कारणों से खतरनाक माना जाता है.

जबकि कुछ अन्य ऐप्स को डेटा साझाकरण और गोपनीयता उल्लंघन के लिए अलग से सूचीबद्ध किया गया है.

यह भी पढ़ें: चीन से जारी तनाव के बीच, राफेल विमानों की पहली खेप ने फ्रांस से भरी उड़ान

एक अनुमान के मुताबिक, चीनी इंटरनेट कंपनियों का भारत में अनुमानित 30 करोड़ उपयोगकर्ता हैं.

उल्लेखनीय है कि भारत और चीन के संबंधों में तनाव की स्थिति बनी हुई.

लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के कायराना हमले की वजह से भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे.

तभी से भारत में चीन को लेकर खास नाराजगी दिखाई दे रही है. लोग चीनी उत्पादों का बहिष्कार कर रहे हैं.

इससे पहले भारत सरकार 59 चीनी ऐप्स पर लगा चुकी है प्रतिबंध

इस घटना के बाद चीन के प्रति भारत के लोगों का गुस्सा अपने चरम पर है.

कुछ दिनों पहले मोदी सरकार ने 59 चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगा दिया था. इनमें सबसे लोकप्रिय टिकटॉक, हेलो के साथ-साथ अलीबाबा की UCWeb और UC News जैसी लोकप्रिय ऐप शामिल थे.

बता दें कि केंद्र सरकार मोबाइल ऐप को लेकर सख्त नियम बना रही है. ऐसे में ऐप्स जो सुरक्षा मानकों को पर खरा नहीं उतर रहे ऐसी ऐस्प पर प्रतिबंध का खतरा लगातार बरकरार है.

साइबर सुरक्षा को मजबूत करने के लिए भी सरकार एक बड़ी योजना बना रही है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

अहमदाबाद के 35 फीसदी लोग कोरोना से हो चुके हैं संक्रमित: विधायक इमरान खेड़ावाला