Gujarat Exclusive > देश-विदेश > अफगानिस्तान : धमाकों के बीच अशरफ गनी ने ली शपथ, अब्दुल्ला ने भी खुद को राष्ट्रपति घोषित किया

अफगानिस्तान : धमाकों के बीच अशरफ गनी ने ली शपथ, अब्दुल्ला ने भी खुद को राष्ट्रपति घोषित किया

0
360

अफगानिस्तान में सोमवार को धमाकों के बीच अशरफ गनी ने राष्ट्रपति पद की शपथ ली. इसी बीच उनके राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी अब्दुल्ला अब्दुल्ला ने भी खुद को राष्ट्रपति घोषित कर दिया है जिससे अफगानिस्तान में राजनीतिक संटक पैदा हो गया है. अब्दुल्ला अब्दुल्ला अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हैं. इसी बीच अमेरिका के विशेष राजदूत जालम खलीलजाद दोनो पक्षों में गतिरोध मिटाने में जुटे हैं.

18 फरवरी को घोषित हुए चुनाव परिणामों में अशरफ गनी को जीत हासिल हुई है, लेकिन अब्दुल्ला अब्दुल्ला ने मतगणना में धांधली का आरोप लगाया है. वहीं, अशरफ गनी के शपथ ग्रहण समारोह के दौरान लगातार कई धमाके हुए. इससे भगदड़ मच गई. हालांकि, इससे किसी के हताहत होने की खबर नहीं है.

इस राजनीतिक विवाद की शुरुआत रविवार से ही हो गई थी. सोमवार सुबह काबुल के राष्ट्रपति भवन में अशरफ गनी का शपथ ग्रहण कार्यक्रम होना था. इसी बीच, अब्दुल्ला अब्दुल्ला ने भी शपथ लेने का ऐलान कर दिया जिसके लिए उन्होंने राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं को निमंत्रण भी भेजे थे. विवाद होने पर जालम खलीलजाद ने दोनों पक्षों से बातचीत कर विवाद समाप्त करने की कोशिश की. इसके चलते सोमवार सुबह शपथ ग्रहण कार्यक्रम टाल दिया गया था. दोपहर बाद तक जब कोई हल नहीं निकला तो अशरफ गनी ने राष्ट्रपति पद की शपथ ले ली. इसके तुरंत बाद ही अब्दुल्ला अब्दुल्ला ने भी खुद को अफगानिस्तान का राष्ट्रपति घोषित कर दिया.

 

नए राजनीतिक संकट से अफगानिस्तान में शांति प्रक्रिया को नुकसान पहुंच सकता है. अफगान सरकार की 10 मार्च को नॉर्वे में तालिबान के साथ शांति वार्ता होनी है. ऐसे में अगर समाधान नहीं निकला तो वार्ता में मुश्किलें आ सकती हैं. तालिबान ने कहा है कि दो सरकारों से वार्ता होना संभव नहीं है, जिसकी वजह से हालात सामान्य नहीं हो पाएंगे.

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप से हाथ मिलाने वाला शख्स, निकला कोरोना वारयस का पीड़ित