Gujarat Exclusive > राजनीति > ममता बनर्जी के खिलाफ भाजपा का प्रदर्शन, पुलिस ने भांजी लाठी और दागे आंसू गैस के गोले

ममता बनर्जी के खिलाफ भाजपा का प्रदर्शन, पुलिस ने भांजी लाठी और दागे आंसू गैस के गोले

0
405

कोलकाता में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) के खिलाफ भाजपा कार्यकर्ता प्रदर्शन (Nabanna Violence) कर रहे हैं. इस दौरान राज्य पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए वॉटर केनन का इस्तेमाल किया और आंसू गैस के गोले भी दागे. इसके अलावा लाठीचार्ज भी किया गया है.

राज्य में लगातार बीजेपी नेताओं की हत्या के खिलाफ इस प्रदर्शन (Nabanna Violence) में राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय आदि शामिल हैं.

यह भी पढ़ें: रेप के आरोपी चिन्मयानंद को नहीं मिलेगी पीड़िता के बयान की कॉपी

दरअसल, बीजेपी युवा मोर्चा ने आज नाबन्नान (राज्य सचिवालय) तक मार्च निकालने की तैयारी की थी. पुलिस ने हाबड़ा ब्रिज और विद्यासागर सेतु को बंद कर दिया. इसके साथ ही जगह-जगह बैरिकेडिंग कर दी.

धरे रह गए इंतजाम

हालांकि कोलकाता पुलिस की लाख कोशिशों के बावजूद बीजेपी ने अपना मार्च (Nabanna Violence) शुरू किया, जिसे रोकने के लिए तमाम इंतजाम धरे रह गए. इस दौरान बीजेपी कार्यकर्ताओं ने पत्थरबाजी शुरू कर दी. जवाब में कोलकाता पुलिस ने लाठीचार्ज किया और वाटर कैनन का इस्तेमाल किया. इसके बाद भगदड़ मच गई.

क्यों हो रहा है विरोध प्रदर्शन

बीजेपी कार्यकर्ता राज्य में भाजपा नेताओं की हो रही हत्याओं के खिलाफ विरोध प्रदर्शन (Nabanna Violence) कर रहे हैं. हाल ही में एक बीजेपी कार्यकर्ता की हत्या पश्चिम बंगाल में कर दी गई है. भाजपा कार्यकर्ताओं का कहना है कि ये पहला वाकया नहीं है जब बंगाल में किसी बीजेपी नेता की हत्या की गई हो. पिछले 4 साल में लगभग 100 के करीब बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या की जा चुकी है. बीजेपी का कहना है कि राज्य में कानून और शांति व्यवस्था चरमरा चुकी है और अगले चुनाव में जनता बीजेपी को चुनेगी.

अगले साल होने हैं चुनाव

मालूम हो कि पश्चिम बंगाल में अगले साल चुनाव हैं और इस कारण से भी सत्ताधारी टीएमसी और मुख्य विपक्षी पार्टी बीजेपी के बीच गतिरोध गहराया हुआ है. पिछले साल लोकसभा चुनाव के समय भी पश्चिम बंगाल में काफी हिंसा हुई थी और इसका आरोप बीजेपी ने राज्य की सरकार पर लगाया था.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें