Gujarat Exclusive > गुजरात > नर्मदा जिला में अवैध खनन के खिलाफ हरकत में प्रशासन, ड्रोन से सर्वे शुरू

नर्मदा जिला में अवैध खनन के खिलाफ हरकत में प्रशासन, ड्रोन से सर्वे शुरू

0
483

राजपिपणा: दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा स्टैच्यू ऑफ यूनिटी की वजह से नर्मदा जिले में कई परियोजनाएं निर्माणाधीन हैं. निर्माण कार्य के आड़ में खनन माफिया अवैध खनन करने की शिकायतें जिला प्रशासन को मिल रही है.

जिसकी वजह से अवैध खनन पर नकेल कसने के लिए जिला प्रशासन हरकत में आ गई है. Narmada illegal mining

अवैध खनन पर नकेल कसने की कोशिश  Narmada illegal mining

नर्मदा जिला खान और खनिज विभाग द्वारा स्टैच्यू ऑफ यूनिटी इलाके में अवैध खनन को लेकर गांधीनगर की अलग-अलग टीम ड्रोन से सर्वे कर रही है. प्रशासन के इस कार्रवाई से अवैध खनन माफियाओं में हड़कंप मच गई है.

शिकायतें यह भी मिल रही हैं कि स्टैच्यू ऑफ यूनिटी और सरदार सरोवर नर्मदा डेम को अवैध खनन विस्फोट की वजह से भारी नुकसान होने की शिकायतें भी मिल रही है. Narmada illegal mining

ओवरलोड गाड़ियों की वजह से दुर्घटना की संख्या में इजाफा Narmada illegal mining

अवैध खनन की वजह से देर रात नर्मदा जिले से गुजरने वाले ओवरलोड ट्रकों की वजह से कई जगहों पर लोग दुर्घटना का भी शिकार बन रहे हैं. इसी वजह से लोगों में गुस्से का माहौल देखने को मिल रहा है.

ऐसे हादसों को रोकने के लिए खान और खनिज विभाग रात में निरिक्षण भी कर रही है. पिछले 2 महीना में 15 से ज्यादा ओवरलोड गाड़ियों को जप्त कर 17.67 लाख रुपये का जुर्माना भी वसूला गया है.

इतना ही नहीं इस मामले को लेकर भाजपा के सांसद मनसुख वसावा भी नर्मदा जिला की दिशा समिति की बैठक में रात के दौरान राजपिपणा इलाके से ओवरलोड ट्रकों को गुजरने से रोकने का निर्देश भी दिया था.

उनके इस निर्देश के बावजूद भी अवैध खनन पर नकेल नहीं कसा जा सका था. इसलिए अब सरकार ने ड्रोन से अवैध खनन पर नजर बनाने का फैसला किया है. Narmada illegal mining

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

जन्मदिन पार्टी में कोरोना नियमों की उड़ी धज्जियां, PAAS नेता गिरफ्तार