Gujarat Exclusive > गुजरात > सरदार सरोवर बांध से छोड़ा गया पानी, नर्मदा का रौद्र रूप, मंदिर की जल समाधि

सरदार सरोवर बांध से छोड़ा गया पानी, नर्मदा का रौद्र रूप, मंदिर की जल समाधि

0
943

Narmada river news

  • नर्मदा में पानी छोड़े जाने के बाद मंदिर परिसर में घुसा पानी
  • गुजरात मौसम विभाग ने अगले 2 दिनों तक भारी बारिश की दी चेतावनी
  • भारी बारिश की वजह से सरदार सरोवर नर्मदा बांध से पानी छोड़

विशाल मिस्त्री राजपीपणा: गुजरात में पिछले कुछ दिनों से लगातार बारिश हो रही है. भारी बारिश की वजह से अंदरूनी ग्रामीण इलाकों में पानी भरने से लोगों का जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है.

नर्मदा नदी में लगातार पानी छोड़े जाने के बाद यात्राधाम गरुड़ेश्वर दत मंदिर के बिल्कुल पास मौजूद वर्षों पुराना नर्मदेश्वर महादेव मंदिर नदी में ढह कर बह गया.

सरदार सरोवर बांध से छोड़ा जा रहा है पानी Narmada river news

गुजरात में लगातार होने वाली बारिश की वजह से सरदार सरोवर नर्मदा बांध में 1062187 क्यूसेक पानी की आवक की वजह से बांध का जलस्तर 132.63 मीटर हो गया है.

भारी बारिश की वजह से जमा हुए पानी को निकालने के लिए बांध के 23 गेट को खोल दिए गए हैं. राजपीपणा से गरुड़ेश्वर की ओर आन-जाने वाले वर्षों पुराने अक्तेश्वर पुल का मुख्य स्तंभ पानी के बहाव के कारण फट गया है.

जिसके बाद नर्मदा जिला प्रशासन ने पुल को पूरी तरह से बंद कर दिया है. विशेष रूप से सरदार सरोवर नर्मदा बांध से नर्मदा नदी में भारी मात्रा में पानी छोड़ा जा रहा है.

जिसके कारण ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोगों का संपर्क टूट गया है.

सड़कों पर जलभराव की वजह से वाहन चालक परेशान Narmada river news

सरदार सरोवर नर्मदा बांध से पानी छोड़े जाने के बाद राजपीपणा से स्टैच्यू ऑफ यूनिटी जाने वाली सभी सड़कों पर जलभराव हो गया है.

वहीं दूसरी तरफ गोरा के पुराने पुल से बड़े वाहनों का पानी में फंसने की घटनाएं भी सामने आ रही है. क्रेन द्वारा फंसे वाहनों को निकाला जा रहा है.

पुल पर बड़े वाहनों के फंसने की वजह से ट्रैफिक जाम की स्थिति पैदा हो गई.

यह भी पढ़ें: सी-प्लेन अहमदाबाद और केवडिया के बीच भरेगा उड़ान

मंदिर की जल समाधि Narmada river news

नर्मदा नदी में छोड़े जाने वाले पानी के बाद नदी ने रौद्र रूप धारण कर लिया है. तीर्थ स्थल गरुड़ेश्वर दत मंदिर के बगल में मौजूद वर्षों पुराना नर्मदेश्वर महादेव मंदिर पानी के तेज बहाव में बह गया.

2019 में पीएम नरेंद्र मोदी ने इस परिसर का दौरा किया था.

सरदार सरोवर नर्मदा बांध से पानी के तेज प्रवाह के कारण गरुड़ेश्वर पुल के का स्तंभ फट गया. जिसकी वजह से यातायात को गोरा की ओर मोड़ दिया गया. भारी बारिश की वजह से जलभराव की स्थिति पैदा हो गई है.

जिसकी वजह से लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

ट्रैफिक डायवर्ट करने की वजह से छोटा उदयपुर से राजपीपणा और केवडिया से राजपीपणा आने वाले लोगों को डभोई से होकर 60 किलोमीटर की अतिरिक्त दूरी करनी पड़ेगी.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पांच साल बाद हमीरसर तालाब ओवरफ्लो, सरकारी दफ्तरों में सार्वजनिक अवकाश