Gujarat Exclusive > गुजरात > गुजरात में शराब बंदी? लेकिन NCRB की रिपोर्ट ने खोल दी पोल

गुजरात में शराब बंदी? लेकिन NCRB की रिपोर्ट ने खोल दी पोल

0
559
  • ड्रग्स-शराब की खपत में पूरे भारत में गुजरात सबसे ऊपर
  • शीर्ष -5 में शेष 4 राज्य भी गुजरात से बहुत पीछे
  • गुजरात में शराब बंदी कानून की NCRB की रिपोर्ट ने खोल दी पोल

अहमदाबाद: गुजरात में तथाकथित शराब बंदी की पोल एनसीआरबी (नेशनल क्राइम रिकॉर्ड्स ब्यूरो) 2019 के आंकड़ों ने खोलकर रख दिया है.

शराब नहीं बल्कि ड्रग्स के सेवन में भी गुजरात देश में शीर्ष स्थान पर है.

NCRB ने दुर्घटनाओं में होने वाली मौतों की संख्या, भ्रष्टाचार में लिप्त राज्यों के नामों के साथ-साथ सबसे अधिक शराब और नशीले पदार्थों का सेवन करने वाले राज्यों की सूची जारी की है.

एनसीआरबी की रिपोर्ट में सबसे खास बात यह है कि गुजरात शराब और ड्रग्स के सेवन के मामले में सबसे ऊपर है. इस सूची में दूसरे स्थान पर तमिलनाडु काफी पीछे है.

ड्रग्स-शराब की खपत में पूरे भारत में गुजरात सबसे ऊपर

NCRB के 2019 के आंकड़ों के अनुसार, गुजरात देश में सबसे ज्यादा शराब-नशीले पदार्थ का सेवन करने वाले राज्यों में टॉप पर है.

तमिलनाडु में 1,5,281 मामले हैं. महाराष्ट्र में 83,156 में दर्ज किए गए हैं. जबकि शराब बंदी वाले गुजरात में तमिलनाडु से दोगुना और महाराष्ट्र की तुलना में तीन गुना, यानी 2,41,715 मामले सामने आए हैं.

यह भी पढ़ें: HC की सख्त टिप्पणी के बाद CM रुपाणी ने कहा- नेताओं को भी करना होगा नियमों का पालन

उल्लेखनीय है कि सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड की जांच ड्रग्स एंगल से कर रही है. एनसीबी की जांच में बॉलीवुड में ड्रग्स कनेक्शन सामने आ चुका है. फिल्मी दुनिया के कई लोगों का नाम सामने आ चुका है.

गुजरात में भी पिछले एक महीने में करोड़ों की एमडी ड्रग्स को पुलिस ने जब्त किया है. सूरत में सबसे ज्यादा ड्रग्स कांड सामने आया है.

देश में सबसे ज्यादा ड्रग्स सेवन में शीर्ष पांच राज्यों में गुजरात, तमिलनाडु, महाराष्ट्र, बिहार और केरल का नाम शामिल हैं.

इसमें 151281 मामले तमिलनाडु में, 83156 महाराष्ट्र में, 49182 बिहार में और 29252 केरल में साल 2019 में दर्ज किए गए थे.

देश में सबसे ज्यादा मामले सूरत और अहमदाबाद में दर्ज

NCRB की 2019 की रिपोर्ट के अनुसार, देश के 19 शहरों में 102153 मामले शराब और नारकोटिक्स ड्रग्स एक्ट के तहत दर्ज किए गए हैं.

जिसमें सबसे ज्यादा सूरत, अहमदाबाद, मुंबई, चेन्नई और दिल्ली से सामने आया है. दिल्ली में 5386, चेन्नई में 7925 और मुंबई में 14051 नशीले पदार्थों का केस दर्ज किया गया है.

जिसमें शराब और नारकोटिक्स ड्रग्स अधिनियम के तहत सबसे अधिक मामले सूरत में 23977 और अहमदाबाद में 20782 मामले दर्ज किए गए हैं.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

अहमदाबाद: श्मशान गृह से कोरोना संक्रमित पिता के शव को लेकर पुत्र फरार