Gujarat Exclusive > गुजरात > सूरत की स्मीमेर अस्पताल की लापरवाही, मरीज ने कहा- यहां से निकालो नहीं तो मर जाऊंगा

सूरत की स्मीमेर अस्पताल की लापरवाही, मरीज ने कहा- यहां से निकालो नहीं तो मर जाऊंगा

0
4866

सूरत: कोरोना पिछले कुछ दिनों से पूरे गुजरात में कहर बरपा रहा है. अहमदाबाद के बाद सूरत में कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. सूरत नगर निगम द्वारा संचालित स्मीमेर अस्पताल में भर्ती एक रत्नकलाकार ने एक वीडियो बनाकर अस्पातल में होने वाली लापरवाही के राज से पर्दाफाश किया है. अस्पताल की ओर सुविधा नहीं मिलने का आरोप लगाते हुए रत्नकलाकार ने कहा कि जल्द से जल्द मुझे यहां से निकालों नहीं तो मर जाऊंगा.

सूरत नगर निगम की ओर से संचालित स्मीमेर अस्पताल में उपचाराधीन हरसुखभाई ने अपने बेड के नीचे पड़े गंदगी को पड़े साफ कराने की मांग को लेकर अपने भाई को फोन किया, इस दौरान उसने गंदगी का वीडियो भी बनाकर सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया जिसके बाद स्मीमेर अस्पताल में मरीजों के साथ होने वाली लापरवाही का पर्दाफाश हो गया.

कोरोना संक्रमितों की संख्या में लगातार होने वाली वृद्धि के बीच सूरत के कोविड अस्पताल स्मीमेर की एक और लापरवाही सामने आई है. मरीजों को भगवान के भरोसे छोड़ने वाला ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. जिसमें मरीज कह रहा है कि उसका उपचार सही तरीके से नहीं किया जा रहा है. मरीज ने आरोप लगाते हुए कहा कि सिर्फ उसके साथ ही नहीं बल्कि दूसरे मरीजों के साथ ऐसी ही लापरवाही की जा रही है.

गुजरात में बढ़ते कोरोना कहर के बीच कल शाम को आने वाले कोरोना संक्रमितों की नए संख्या के मामले में सूरत पहले पायदान पर है. गुजरात स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी ताजा आकड़ों के मुताबिक सूरत कॉर्पोरेशन में सर्वाधिक 225 नए मामले दर्ज किए गए. जिसके बाद सूरत में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 10,276 हो गई है. ऐसे में कोरोना अस्पताल में इलाज करने वाले मरीजों के साथ लापरवाही स्वास्थ्य व्यवस्था पर सवाल खड़ा करता है.

1026 नए मामलों के साथ गुजरात में कोरोना संक्रमितों की संख्या 50 हजार पार