Gujarat Exclusive > देश-विदेश > भारत के कड़े विरोध के बाद पीछे हटा नेपाल, नए नक्‍शे पर रोक लगाई

भारत के कड़े विरोध के बाद पीछे हटा नेपाल, नए नक्‍शे पर रोक लगाई

0
3331

भारत के खिलाफ नक्शा विवाद पर नेपाल को पीछे हटने के लिए मजबूर होना पड़ा है. भारत के कड़े विरोध के बाद नेपाल द्वारा जारी किए गए नए अपने नक्शे को संवैधानिक संशोधन के रूप में औपचारिक मंजूरी देने के लिए बुलाई गई बैठक स्थगित कर दी गई है. इसके साथ ही नए नक्शे को नेपाल ने रोक लगा दी है.

खबरें ये भी चल रही हैं कि इस नक्शे को संवैधानिक रूप देने के लिए आज संसद की बैठक होनी थी लेकिन मधेसी नेताओं द्वारा इस नक्शे को लेकर विरोध दर्ज कराए जाने के बाद से नेपाल में राजनीतिक बहस शुरू हो गई थी.

मालूम हो कि भारतीय क्षेत्र को अपने नक्शे में दर्शाने और उस राजनीतिक मानचित्र को कैबिनेट में पास करवाने पर भारतीय विदेश मंत्रालय ने कड़ा ऐतराज जताया था. भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा है कि एकपक्षीय कार्रवाई ऐतिहासिक तथ्यों, प्रमाणों पर आधारित नहीं है. विदेश मंत्रालय ने कहा कि नेपाल द्वारा नया नक्शा जारी किया जाना, सीमा संबंधी मुद्दों को बातचीत के जरिये हल किए जाने की द्विपक्षीय समझ के विपरीत है.

गौरतलब है कि लिपुलेख दर्रा नेपाल और भारत के बीच विवादित सीमा, कालापानी के पास एक दूरस्थ पश्चिमी स्थान है. भारत और नेपाल, दोनों कालापानी को अपनी सीमा का अभिन्न हिस्सा बताते हैं. भारत उसे उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले का हिस्सा बताता है, वहीं नेपाल इसे धारचुला जिले का हिस्सा बताता है. गयावली ने कहा कि भूमि प्रबंधन मंत्रालय जल्द ही नेपाल का आधिकारिक मानचित्र सार्वजनिक करेगा.

उत्तर भारत में प्रचंड गर्मी से हाल बेहाल, राजधानी दिल्ली में लगातार दूसरे दिन पारा 47 डिग्री के पार