Gujarat Exclusive > गुजरात > नित्यानंद को बचाने के लिए नया पैतरा, कोर्ट में याचिका दाखिल कर बच्चों को सेक्स वीडियो दिखाने का लगाया आरोप

नित्यानंद को बचाने के लिए नया पैतरा, कोर्ट में याचिका दाखिल कर बच्चों को सेक्स वीडियो दिखाने का लगाया आरोप

0
1227

अहमदाबाद: हाथीजण इलाके में मौजूद डीपीएस स्कूल में चल रहे नित्यानंद आश्रम को लेकर विवाद बढ़ता ही जा रहा है. बलात्कारी और दोनों लड़कियां अभी भी गिरफ्तारी से दूर हैं. जबकि गिरफ्तारी से बचने के लिए डीपीएस स्कूल संचालिका पूजा श्रॉफ भी हर दिन नये-नये हथकंडे अपना रही है. तो वहीं दूसरी ओर नित्यानंद आश्रम के साधक और साध्वीयों ने जांच पुलिस अधिकारी, बाल कल्याण समिति और लापता लड़की के पिता के खिलाफ अदालत में याचिका दायर की है.

नित्यानंद आश्रम के साधक गिरीश तुरलापति और अहमदाबाद में चलने वाले आश्रम की दोनों संचालिका प्राणप्रिया और प्रियत्तव ने अपने वकील को साथ में रखकर आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजिन किया. प्रेस कान्फ्रेंस को संबोधित करते हुए, लापता लड़की के पिता, अहमदाबाद ग्रामीण पुलिस अधिकारियों, बाल कल्याण समिति के खिलाफ अहमदाबाद ग्राम्य कोर्ट में याचिका दाखिल करने की जानकारी दी. नित्यानंद आश्रम के साधक ने पुलिस पर बच्चों को गंदे वीडियो दिखाने और मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है. गिरीश तुरलापति ने पुलिस पर बच्चों को प्रताड़ित करने का आरोप लगाते हुए कहा, “आपका स्वामी बलात्कारी है, सेक्स गुरु है, आपका स्वामी अच्छा नहीं है, गुरुकुल भी अच्छा नहीं है कहकर लगातार प्रताड़ित करने का आरोप लगाया.

नित्यानंद आश्रम के सहयोगी गिरीश तुरलापति ने पुलिस और बाल कल्याण समिति पर उचित जांच नहीं करने का आरोप लगाया और यह भी आरोप लगाया कि आश्रम के बच्चे और अन्य निवासियों को मानसिक यातना दी गई थी.

अहमदाबाद ग्राम्य कोर्ट ने नित्यानंद आश्रम की ओर से दाखिल याचिका को लेकर तमाम लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कर कार्रवाई करने का निर्देश जारी किया है. विवेकानंदनगर पुलिस स्टेशन में दर्ज शिकायत में एसटी, एससी सेल के डीवाईएसपी पीडी मनवर मामले की जांच करेंगे और उन्हें एक महीने के भीतर जांच रिपोर्ट देने का आदेश दिया गया है. नित्यानंद बचाने और अदालती कार्यवाही को प्रभावित करने के लिए याचिका दाखिल की गई ऐसी चर्चा भी चल रही है.

महिला सशक्तिकरण का गुजरात मॉडल, रुपाणी कैबिनेट में एक भी महिला मंत्री शामिल नहीं