Gujarat Exclusive > देश-विदेश > वुहान में खत्म हुआ लॉकडाउन लेकिन चीन में कोरोना की वापसी से हड़कंप, एक दिन में सामने आए 63 नए मामले

वुहान में खत्म हुआ लॉकडाउन लेकिन चीन में कोरोना की वापसी से हड़कंप, एक दिन में सामने आए 63 नए मामले

0
2175

एक तरफ चीन का वुहान शहर दो महीने बाद लॉकडाउन (तालाबंदी) खुलने का जश्न मना रहा है तो वहीं दूसरी तरफ नए मामले आने से हड़कंप मच गया है. चीन में कोरोना वायरस के 63 नए मामले सामने आए हैं. हालांकि इनमें दो घरेलू मरीज और 61 आयातित मरीज (दूसरे देशों से आए चीनी) शामिल हैं.

63 नए मामलों के साथ चीन में एक फिर से कोरोना फैलने का संकट मंडराने लगा है. स्वास्थ्य अधिकारियों ने गुरुवार को कहा कि चीन में बुधवार को दो महीने से अधिक समय के बाद लॉकडाउन हटाया गया था लेकिन नए मामलों से देश की चिंता बढ़ने लगी है. स्वास्थ्य प्राधिकरण ने कहा कि देश में दो लोगों की मौत के साथ कुल मृत्यु का आंकड़ा 3,335 हो गया है. वहीं, कुल कोरोना वायरस के मामले 81,865 तक पहुंच चुके हैं.

चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) ने गुरुवार को कहा कि उसे बुधवार को 63 नए कोरोना वायरस मामलों की पॉजिटिव रिपोर्ट मिली, जिनमें से 61 आयातित हैं. चीन में कुछ समय पहले तक नए मामले आने बंद हो गए थे. लगातार तीन दिन तक तो कोई भी घरेलू मरीज नहीं मिला था.

कोरोना की वैक्सीन तलाशने में चीन है आगे

कोरोना वायरस से बचने के लिए दुनिया में जितने भी रिसर्च और क्लिनिकल शोध चल रहे हैं उनमें सबसे ज्यादा 60 शोध और प्रयोगों के साथ चीन सबसे अव्वल है. ब्रिटेन की एक कंपनी ने अपने सर्वे में बताया कि इस वक्त दुनिया के 39 देशों में कोरोना की वैक्सीन ढूंढने और इसको लेकर होने वाले गहन शोधों की संख्या करीब 300 है जिसमें अकेले चीन में 60 शोध हो रहे हैं जबकि अमेरिका 49 शोध और अध्ययन करने वाला दूसरे नंबर का देश है. ब्रिटेन की कंपनी फिनबोल्ड डॉट डॉम ने कोरोना वायरस रिसर्च इन्डेक्स जारी किया है जिसमें दुनिया के तमाम देशों में कोरोना के कन्फर्म मामलों के साथ होने वाले शोध और क्लिनिकल स्टडी का ब्यौरा पेश किया गया है.

कैडिला ने भी किया है दावा

उधर भारत की शीर्ष ड्रग कंपनी कैडिला हेल्थकेयर ने भी दावा किया है कि वह कोरोना की वैक्सिन पर काम करना शुरू कर दिया है. कंपनी का दावा है कि वैक्सीन को जानवारों पर टेस्ट किया गया है और आने वाले दो-तीन महीनों में अच्छे नतीजे आने की संभावना है.

भारत और पीएम मोदी का कृतज्ञ हुए डोनाल्ड ट्रंप, कहा- यह एहसान अमेरिका कभी नहीं भूलेगा