Gujarat Exclusive > देश-विदेश > नई शिक्षा नीति पर बोले PM मोदी, पढ़ने से ज्यादा सीखने पर दिया गया है महत्व

नई शिक्षा नीति पर बोले PM मोदी, पढ़ने से ज्यादा सीखने पर दिया गया है महत्व

0
348
  • नई शिक्षा नीति पर जारी है मंथन
  • पीएम मोदी ने राज्यपालों की कॉन्फ्रेंस को किया संबोधित
  • कहा- नई शिक्षा नीति से मिलेगा छात्रों को फायदा 

केंद्र सरकार की ओर से जारी नई शिक्षा नीति के ऐलान के बाद आज भी इसको लेकर मंथन जारी है.

इस बीच आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के साथ राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर राज्यपालों के सम्मेलन के उद्घाटन सत्र को संबोधित किया.

इस मौके उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति, सरकार की नीति नहीं है. बल्कि ये देश की शिक्षा नीति है.

नई शिक्षा नीति में पढ़ने से ज्यादा सीखने पर महत्व दिया गया है.

शिक्षा नीति में सरकार जितना कम दखल दे उतना होगा फायदा

नई शिक्षा नीति को लेकर आयोजित राज्यपालों की कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि जैसे विदेश नीति देश की नीति होती है.

रक्षा नीति देश की नीति होती है. बिल्कुल वैसा ही शिक्षा नीति भी देश की ही नीति है. मौजूदा सूरते हाल में देश के लक्ष्यों को नई शिक्षा नीति के जरिए ही हासिल किया जा सकता है.

इस मौके पर उन्होंने कहा कि शिक्षा को लेकर सरकार का दखल जितना कम से कम हो, उतना अच्छा है.

बदलते हालात में छात्रों को नई शिक्षा नीति से मिलेगा फायदा

बदलते हालात के बीच नई शिक्षा नीति देश के नौजवानों को अच्छा रोजगार देने का जरिया बन सकती है. उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति पर बीते 4-5 सालों से काम किया जा रहा था.

इसे लागू करने से पहले लाखों लोगों का सुझाव लिया गया है. शिक्षा नीति से शिक्षक, अभिभावक छात्र जितना जुड़े होंगे, उतना ही यह प्रासंगिक होगी.

यह भी पढ़ें: मोदी कैबिनेट का बड़ा फैसला, नई शिक्षा नीति पर लगी मुहर

भारत एक शिक्षा महाशक्ति बन जाएगा- राष्ट्रपति

इस मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति इक्कीसवीं सदी की जरूरतों और आकांक्षाओं के साथ देश के युवाओं को आगे ले जाने में सक्षम है.

यह सिर्फ एक नीतिगत दस्तावेज नहीं है, बल्कि भारत के शिक्षार्थियों के आकांक्षाओं का प्रतिबिंब है.

अगर देश में नई शिक्षा नीति को लागू कर दिया जाए और उसपर सही तरीके से अमल किया जाए तो भारत एक शिक्षा महाशक्ति बन जाएगा.

बजट पेश करने के दौरान दिया था नई शिक्षा नीति पर जोर

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के दौरान बजट पेश करते हुए शिक्षा क्षेत्र को लेकर कई बड़ी घोषणाएं की थी.

वित्त मंत्री ने एजुकेशन सेक्टर पर जोर देते हुए कहा था कि जल्द ही देश में नई शिक्षा नीति लागू की जा सकती है.

देश में नई शिक्षा नीति लागू होने के बाद कहानी, नाटक, गणित, लेखन कौशल और भाषा पर जो दिया जाएगा.

उच्च शिक्षा हासिल करने वालों को होगी आसानी

इस सिलसिले में जानकारी देते हुए केंद्रीय मानव संसाधन एवं विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने कहा था कि नई शिक्षा नीति हायर एजुकेशन से संबंधित कई बातों का समाधान करेगी.

जिससे देश के युवाओं को उच्च शिक्षा हासिल करने में पहले के मुकाबले काफी आसानी होगी.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

जुबानी जंग के बीच कंगना रनौत को Y कैटेगरी की सुरक्षा, ट्वीट कर अदा किया शुक्रिया