Gujarat Exclusive > राजनीति > राज्यसभा में शिवसेना का तंज, क्या भाभीजी का पापड़ खाकर लोग कोरोना से हुए ठीक?

राज्यसभा में शिवसेना का तंज, क्या भाभीजी का पापड़ खाकर लोग कोरोना से हुए ठीक?

0
563
  • देश में कोरोना दिन प्रतिदिन कोरोना होता जा रहा है बेलगाम
  • राज्यसभा में चौथे दिन कोरोना के मामले पर की गई चर्चा
  • शिवसेना ने राज्यसभा में कसा तंज
  • कहा कि क्या भाभीजी का पापड़ खाकर लोग कोरोना से हुए ठीक?

देश में दिन प्रतिदिन कोरोना के बढ़ते मामले के लेकर आज मानसून के सत्र के चौथे दिन राज्यसभा में आज चर्चा की गई.

इस दौरान करोना से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों की लिस्ट में पहले पायदान पर शामिल महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते मामलों पर तंज कसने वाले लोगों पर हमला करते हुए शिवसेना के सांसद संजय राउत ने कहा कि क्या लोग भाभीजी का पापड़ खाकर ठीक हो रहे हैं.

कोरोना पर नहीं की जानी चाहिए राजनीति

इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस पर आज राजनीति की जा रही है. उन्होंने कहा कि यह महामारी राजनीतिक लड़ाई नहीं है बल्कि लोगों का जीवन बचाने की लड़ाई है.

इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि इस वायरस का दर्ज वही समझ सकता है जो इसका शिकार हो चुका है. उन्होंने कहा कि मेरी मां और मेरे भाई भी संक्रमित हैं.

महाराष्ट्र में कोरोना से संक्रमित लोग तेजी से ठीक हो रहे हैं. आज धारावी में स्थिति नियंत्रण में है.

बीएमसी के इस प्रयास का WHO ने भी सराहना कर चुकी है. लेकिन कुछ लोग हमारी सरकार की आलोचना कर रहे हैं.

अर्जुनराम मेघवाल के दावे पर संजय राउत का तंज

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले मोदी सरकार के मंत्री अर्जुनराम मेघवाल ने एक वीडियो जारी कर बीकानेर में बने भाभाजी के पापड़ खाने से कोरोना वायरस के संकमण से बचाव में कारगर साबित हो रहा है.

उन्होंने अपने वीडियो में दावा करते हुए कहा था कि यह पापड़ एंटी बॉडी का भी काम करेगा.

यह भी पढ़ें: कोरोना की चपेट में मोदी सरकार का एक और मंत्री, कहा मिलने वाले लोग सावधानी बरतें

पिछले रविवार को उद्धव ठाकरे ने जनता को किया था संबोधित

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद से विवादों में घिरी महाराष्ट्र सरकार के लिए कंगना रनौत एक नई चुनौती बन गई है.

बीते कुछ दिनों से बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर लगातार हमला बोल रही है.

इस बीच पिछले रविवार सीएम उद्धव ठाकरे ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिय महाराष्ट्र के लोगों को संबोधित किया लेकिन उन्होंने कंगना मामले पर कुछ भी नहीं बोला.

लेकिन उन्होंने साफ कर दिया कि मेरी खामोशी को मेरी मजबूरी ना समझा जाए.

कोरोना की वजह महाराष्ट्र को किया जा रहा है बदनाम

उन्होंने जनता को संबोधित करते हुए कहा कि बीते कुछ दिनों से महाराष्ट्र कई मुश्किलों से दो चार हो रहा है महाराष्ट्र को बदनाम करने की साजिश रची जा रही है.

सीएम ने कहा कि वह चुप जरूर हैं लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि उनके पास कोई जवाब नहीं है. लेकिन आज इस मुद्दे पर बात नहीं कर रहा बल्कि आज कोरोना की वजह से महाराष्ट्र की मौजूदा सूरते हाल पर बात करूंगा.

कोरोना को लेकर मुंबई को बदनाम करने की कोशिश हो रही है. लोगों ने तालाबंदी के नियमों का पालन जरूर किया है लेकिन अभी कोरोना का संकट खत्म नहीं हुआ है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा- मेरी खामोशी को मजबूरी न समझें