Gujarat Exclusive > गुजरात > नागरिकता कानून विरोध: NID का दीक्षांत समारोह टला, मल्लिका साराभाई थीं मुख्य मेहमान

नागरिकता कानून विरोध: NID का दीक्षांत समारोह टला, मल्लिका साराभाई थीं मुख्य मेहमान

0
421

गुजरात के अहमदाबाद में स्थित नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन में 7 फरवरी को होने वाले सालाना दीक्षांत समारोह को अप्रत्याशित कारणों से टाल दिया गया है. इस समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचक और प्रख्यात नृत्यांगना मल्लिका साराभाई को मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित किया गया था. हाल ही में मल्लिका साराभाई ने नागरिकता संशोधन कानून पर भी मोदी सरकार की खूब आलोचना की थी. इंस्टीट्यूट के अधिकारियों ने बताया है कि नई तारीख की घोषणा जल्द ही की जाएगी.

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन (NID) में 7 फरवरी को होने वाले सालाना दीक्षांत समारोह को अप्रत्याशित कारणों से टाल दिया गया है. अब इसकी नई तारीख की घोषणा बाद में की जाएगी. समाचार एजेंसी पीटीआई ने इंस्टीट्यूट प्रशासन के हवाले से यह जानकारी दी है. बता दें कि प्रख्यात नृत्यांगना मल्लिका साराभाई इस कार्यक्रम की मुख्य अतिथि थीं. साराभाई प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मुखर आलोचक रही हैं.

पीटीआई ने बताया कि साराभाई को मुख्य अतिथि के बारे में पूछ जाने पर इंस्टीट्यूट के अधिकारी ने कहा, ”कई लोगों से सलाह मशवरा करने के बाद मुख्य अथिति का चयन किया जाता है और अंतिम फैसला कार्यक्रम के दिन अतिथि की उपल्बधता के आधार पर किया जाता है. इससे पहले इंस्टीट्यूट ने अपने छात्रों से कहा था कि बड़े दुख के साथ हमें आप लोगों को यह सूचित करना पड़ रहा है कि नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन का 40वां दीक्षांत समारोह 7 फरवरी को अप्रत्याशित कारणों से आयोजित नहीं होगा.

पीटीआई ने बताया कि साराभाई को मुख्य अतिथि के बारे में पूछ जाने पर इंस्टीट्यूट के अधिकारी ने कहा, ”कई लोगों से सलाह मशवरा करने के बाद मुख्य अथिति का चयन किया जाता है और अंतिम फैसला कार्यक्रम के दिन अतिथि की उपल्बधता के आधार पर किया जाता है. इससे पहले इंस्टीट्यूट ने अपने छात्रों से कहा था कि बड़े दुख के साथ हमें आप लोगों को यह सूचित करना पड़ रहा है कि नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन का 40वां दीक्षांत समारोह 7 फरवरी को अप्रत्याशित कारणों से आयोजित नहीं होगा.