Gujarat Exclusive > राजनीति > कृषि कानून कांग्रेस द्वारा नहीं पेश किए गए, इसलिए राहुल कर रहे विरोध- वित्त मंत्री

कृषि कानून कांग्रेस द्वारा नहीं पेश किए गए, इसलिए राहुल कर रहे विरोध- वित्त मंत्री

0
305

दिल्ली के सीमाओं पर किसानों का आंदोलन लगातार जारी है. किसान आंदोलन के समर्थन में लगातार राहुल गांधी आवाज उठाते रहे हैं. इसी बीच केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने कांग्रेस की तरफ से इन कानूनों के विरोध को लेकर राहुल गांधी से सवाल पूछा है.

निर्मला सितारमण (Nirmala Sitharaman) ने कहा- मैं राहुल गांधी से यह पूछना चाहती हूं कि क्या किसान के हित में इन नीतियों को कांग्रेस ने 2019 के चुनावी घोषणा पत्र में शामिल नहीं किया था. वे इसलिए विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं क्योंकि इन सुधारों को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लागू किया है, ना कि उनकी तरफ से. (Nirmala Sitharaman)

यह भी पढ़ें: राजनाथ सिंह का किसानों को सुझाव- कृषि कानूनों को 1-2 साल लागू करके देखा जाए

सरकार बातचीत के लिए तैयार

वित्त मंत्री (Nirmala Sitharaman) ने आगे कहा- प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किसानों को संबोधित कर यह साफ कर दिया है कि सरकार उन लोगों के साथ बातचीत को तैयार है जिनके मन में तीन नए कृषि कानूनों को लेकर सवाल हैं. मुझे उम्मीद है कि अब प्रदर्शनकारी किसानों की तरफ से सरकार से इस बारे में बातचीत की जाएगी. (Nirmala Sitharaman)

बता दें कि कृषि क्षेत्र में नए सुधार संबंधी तीन कानूनों के विरोध में करीब एक महीने से राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और इसके आसपास आकर हजारों की तादाद में किसान लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं. इन प्रदर्शनकारी किसानों में अधिकतर पड़ोसी राज्य पंजाब और हरियाणा से हैं जो तीन कृषि कानूनों की वापसी की अपनी जिद पर अड़े है.

पीएम ने साधा विपक्ष पर निशाना

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की 96वीं जयंती पर आयोजित किसान संवाद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 18,000 करोड़ रुपये का किसान सम्मान निधि ट्रांसफर किया. इस दौरान पीएम मोदी ने तीनों कृषि कानूनों के लेकर विपक्ष के साथ ममता सरकार पर जमकर हमला बोला.

पीएम मोदी ने इस दौरान कई किसानों से बातचीत कर उनकी परेशानी को समझाने की कोशिश भी की. अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने किसानों के लिए बनाए गए नए कृषि कानून को लेकर विपक्ष पर किसानों को गुमराह करने का भी आरोप लगाया. इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि आज नए कृषि सुधारों के बारे में कई झूठ बोले जा रहे हैं. कुछ लोग किसानों में भ्रम पैदा कर रहे हैं कि एमएसपी को खत्म किया जा रहा है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें