Gujarat Exclusive > गुजरात > गुजरात में वीकेंड कर्फ्यू पर नितिन पटेल की सफाई, कहा- अभी फैसला नहीं हुआ

गुजरात में वीकेंड कर्फ्यू पर नितिन पटेल की सफाई, कहा- अभी फैसला नहीं हुआ

0
569

गुजरात में कोरोना के मामले फिर से तेजी से बढ़ने लगे हैं. ऐसे में चर्चा है कि राज्य सरकार इस सप्ताह के अंत (वीकेंड) पर भी कर्फ्यू लगा सकती है. इसी बीच गुजरात के उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल (Nitin Patel) ने गुजरात में फिर से वीकेंड पर कर्फ्यू लगाने के मुद्दे पर बयान दिया है.

नितिन पटेल (Nitin Patel) ने कहा है कि फिलहाल वीकेंड में कर्फ्यू पर कोई फैसला नहीं किया गया है. साथ ही उन्होंने लोगों से अफवाहों में न पड़ने का आग्रह किया है. बता दें कि अब तक अहमदाबाद, सूरत, राजकोट और वडोदरा में रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू लागू है.

यह भी पढ़ें: गुजरात से बाहर जाने वालों से अब कोरोना टेस्ट का लिया जाएगा चार्ज: कुमार कानानी

नितिन पटेल (Nitin Patel) ने कहा कि चार शहरों में वीकेंड कर्फ्यू नहीं लगाया जाएगा, लेकिन यह आने वाली स्थिति पर निर्भर करेगा. पटेल ने कहा, “अब तक इस पर कोई निर्णय नहीं लिया गया है.”

नाइट कर्फ्यू रहेगा बरकरार

हालांकि उन्होंने (Nitin Patel) स्पष्ट किया कि नाइट कर्फ्यू जारी रहेगा. उन्होंने यह भी कहा कि गुजरात की स्थिति दिल्ली और भारत के अन्य राज्यों की तुलना में बेहतर है.

मालूम हो कि कोरोना के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी होने के बाद बीते शुक्रवार रात से अहमदाबाद में 57 घंटे का कर्फ्यू लगाया गया था. हालांकि इसके परिणामस्वरूप शहर के कई हिस्सों में खरीदारी को लेकर अफरा-तफरी मच गई थी. इसके बाद से कयास लगाए जा रहे थे कि राज्य सरकार फिर से कर्फ्यू लगा सकती है.

कोरोना वैक्सीन पर क्या बोले

इससे पहले डिप्टी सीएम ने विपक्ष के उन आरोपों का खंडन किया जिसमें कहा जा रहा था कि सरकार कोरोना से संबंधित आंकड़ों में हेरफेर कर रही है. उन्होंने कहा कि सरकार कोरोना वायरस महामारी से संबंधित कोई भी डेटा नहीं छिपा रही है और यह सही डेटा और सभी अपडेट पब्लिक डोमेन में मौजूद है.

कोरोना वैक्सीन को लेकर नितिन पटेल ने कहा कि राज्य को हर दिन 20 वोलेंटियर्स को कोरोना वैक्सीन की दो डोज दी जाएगी. नितिन पटेल ने 22 नवंबर को दावा किया था कि कोरोना वायरस के टीके जल्द ही उपलब्ध होंगे और सरकार इस बात की रणनीति तैयार कर रही है कि गुजरात की पूरी आबादी को टीका कैसे लगाया जाएगा, खासकर ग्रामीण इलाकों में रहने वालों को.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें