Gujarat Exclusive > राजनीति > बिहार चुनाव: नीतीश कुमार ने पहली वर्चुअल रैली में लालू-राबड़ी पर साधा निशाना

बिहार चुनाव: नीतीश कुमार ने पहली वर्चुअल रैली में लालू-राबड़ी पर साधा निशाना

0
648

बिहार में होने वाले आगामी विधानसभा चुना के मद्देनजर जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष और सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) पहली बार वर्चुअल प्लेटफार्म जदयू लाइव डाटकाम के जरिए लोगों को संबोधित कर रहे हैं. नीतीश कुमार (Nitish Kumar) अपने दल के चुनाव अभियान का बिगुल फूंका.

सीएम नीतीश कुमार ने जदयू मुख्यालय में बने नवनिर्मित ‘कर्पूरी सभागार’ के मंच से ‘निश्चय संवाद’ को संबोधित किया. नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने अपने संबोधन में बताया कि डिजिटल दौर में पार्टी ने jdulive.com की शुरुआत की है.

यह भी पढ़ें: सुशांत केस में लगातार दूसरे दिन एनसीबी के सामने पेश हुईं रिया चक्रवर्ती

अपनी पहली आभासी रैली में उन्होंने कहा कि कोरोना के कहर को देखते हुए हमने केंद्र से पहले ही लॉकडाउन शुरू किया. अब अनलॉक शुरू हो चुका है. हम केंद्र के दिशानिर्देशों का पालन कर रहे हैं.

लालू-राबड़ी पर निशाना

लालू और राबड़ी पर निशाना साधते हुए नीतीश ने कहा,

‘हमसे पहले जो लोग सत्ता में थे उन्होंने क्या किया. कब्रिस्तान और मंदिरों का ही हाल देख लीजिए. न कब्रिस्तान की घेराबंदी थी और न ही मूर्ति चोरी रोकने के उपाय. हमनें 6,099 कब्रिस्तानों की घेराबंदी करवाई. मंदिर में मूर्ति चोरी रोकने के लिए 226 मंदिरों में चारदीवारी का निर्माण कार्य पूरा किया.’

उन्होंने कहा कि हमने भागलपुर दंगों की जांच पूरी करवाई. जब हमें काम करने का मौका मिला तो हमने लक्ष्य रखा कि कहीं से भी राजधानी पटना आने में 6 घंटे से ज्यादा का समय न लगे. ये लक्ष्य पूरा हो गया है.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने कहा,

‘पहले बिहार में क्या हो रहा था. 15 साल तक पति-पत्नी का राज चला, सामूहिक नरसंहार होता था. पहले लोग गवाही देने से भागते थे, अब गवाही देने लगे. पहले शाम होने से पहले लोग घर के अंदर चले जाते थे. राइफलें औंर बंदूकें दिखाई जाती थी. अब अपराध के ग्राफ में गिरावट आई है. 2005 में हमने सत्ता संभाली और तब से हम अपराध पर जीरो टॉलरेंस का रुख अपनाए हुए हैं.’

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने कहा कि हम रोजगार सृजन भी कर रहे हैं. बोलने वाले पता नहीं कुछ भी बोल रहे हैं, उन्हें पता भी नहीं कि क्या काम चल रहा है. राज्य सरकार की तरफ से 5,50,246 योजनाओं में 14 लाख से ज्यादा रोजगार का सृजन किया गया है. औसतन प्रतिदिन लगभग दस लाख लोगों को काम मिल रहा है.
हम आपदा पीड़ितों की पूरी मदद करते हैं. बिहार में हर साल बाढ़ आती है. हम प्रकार से लोगों के लिए काम करते हैं. अगर सड़कें टूटती हैं तो उसे भी हम बनाते हैं

लोग कहने लगे क्वालिटी बाबा

रैली को संबोधित करते हुए सीए नीतीश (Nitish Kumar) ने कहा कि दरभंगा में हमने जब एक क्विंटल अनाज बांटा तो हमें क्विंटलिया बाबा कहने लगे. पहले कभी कुछ मिलता था. हम तीन हजार रुपये अनाज के लिए देते हैं. अब हम लोगों के खाते में अनुग्रह राशि पहुंचा देते हैं. हम फसल की क्षति का आकलन करवाकर उसका लाभ देते हैं. हम फसल सहायता योजना के तहत मदद करते हैं.

सीएम ने गिनाई कई उपलब्धियां

सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने कोरोना को लेकर सरकार की उपलब्धियां गिनाईं. उन्होंने कहा कि इलाज से लेकर मौत होने की परिस्थिति में 4 लाख रुपया मुआवजा देना तय किया गया. राज्य भर के प्रवासी बिहारियों को 14 दिन क्ववारंटीन सेंटर में रखा. 15 लाख से ज्यादा लोग वापस बिहार आए.

नीतीश कुमार ने कहा कि कोरोना मरीजों के लिए बेड, ऑक्सीजन का पर्याप्त इंतजाम है और जितनी व्यवस्था है उसका पूरा इस्तेमाल भी नहीं हो पा रहा है.

सीएम ने बताया कि हर दस लाख की जनसंख्या पर 32,233 लोगों की जांच की गई.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें