Gujarat Exclusive > राजनीति > नीतीश कुमार की अगुआई में बिहार में NDA को बहुमत मिलेगा- अमित शाह

नीतीश कुमार की अगुआई में बिहार में NDA को बहुमत मिलेगा- अमित शाह

0
1101

गृह मंत्री अमित शाह ने आज बिहार में वर्चुअल रैली के माध्यम से चुनावी बिगुल फूंका. इस दौरान अमित शाह ने साथ कर दिया कि नीतीश कुमार की अगुआई में ही बिहार में चुनाव लड़ा जाएगा. उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में बिहार में चुनाव हैं. मेरा मानना है कि नीतीश कुमार जी के नेतृत्व में एनडीए दो तिहाई बहुमत के साथ सरकार बनाएगी, लेकिन यह राजनीति का समय नहीं है. हम सभी को मोदी जी के नेतृत्व में कोरोनावायरस से लड़ना चाहिए.

अमित शाह ने वर्चुअल रैली के जरिये बिहार के लोगों और पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए राज्य की विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) पर निशाना साधते हुए कहा कि जब आरजेडी सत्ता में थी तो राज्य की आर्थिक संवृद्धि दर केवल 3.9 प्रतिशत थी लेकिन एनडीए के कार्यकाल में यह बढ़कर 11.3 प्रतिशत हो गई. उन्होंने आरजेडी के चुनाव चिन्ह ‘लालटेन’ का जिक्र करते हुए कहा कि राज्य लालटेन राज से एलईडी राज की तरफ बढ़ा.

शाह ने कहा कि इस वर्चुअल रैली का बिहार के चुनाव प्रचार से कोई लेना-देना नहीं है बल्कि इसका उद्देश्य कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में लोगों के साथ जुड़ना है. उन्होंने कहा, ‘‘इस रैली का उद्देश्य आत्मनिर्भर भारत अभियान से लोगों को जोड़ना है और बीजेपी इस तरह की 75 सभाएं करेगी.’’

अमित शाह ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी की सराहना करते हुए कहा कि वे लोगों के लिए काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि JDU-BJPके शासन के दौरान बिहार जंगल राज से निकलकर जनता का राज में आ गया है. थाली बजाकर उनकी रैली के खिलाफ विरोध करने वाले राजद पर निशाना साधते हुए शाह ने पूछा क्या किसी ने उन्हें रैली आयोजित करने से रोका है.

उन्होंने कहा कि यद्यपि विपक्षी नेताओं ने कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में देश को एकजुट करने के प्रधानमंत्री के प्रयासों को राजनीतिक प्रचार कहकर खारिज किया, लेकिन देश उनके साथ खड़ा रहा और उनकी अपीलों का पालन किया. शाह ने कहा कि केन्द्र सरकार ने 1.25 करोड़ प्रवासियों को सुरक्षित ढंग से उनके गंतव्य तक पहुंचाया.

शाह ने कहा कि जनता कर्फ्यू भारत के लोकतांत्रिक इतिहास के अंदर स्वर्णिम अक्षरों में लिखा जाएगा कि देश के एक नेता की अपील पर कोई पुलिस बल प्रयोग किए बगैर पूरे देश ने घर के अंदर रहकर अपने नेता की अपील का सम्मान किया.

गुजरात कांग्रेस के विधायकों को ठहराने वाले रिसॉर्ट के खिलाफ केस दर्ज