Gujarat Exclusive > देश-विदेश > विश्व खाद्य कार्यक्रम को मिला शांति का नोबेल पुरस्कार

विश्व खाद्य कार्यक्रम को मिला शांति का नोबेल पुरस्कार

0
478

शांति के क्षेत्र में दिए जाने वाले नोबेल पुरस्कार (Nobel Peace Prize) का ऐलान हो गया है. नार्वे की नोबेल समिति ने विश्व खाद्य कार्यक्रम (डब्ल्यूएफपी) को 2020 का नोबेल शांति पुरस्कार (Nobel Peace Prize) देने का फैसला किया है. यह संगठन साल 1961 से दुनियाभर में भूख के खिलाफ लड़ाई लड़ रहा है. यह सुनिश्चित करता है कि खाद्य सुरक्षा के जरिए देशों की आबादी को मूलभूत ताकत दी जा सके. पिछले साल इथियोपिया के प्रधानमंत्री एबी अहमद अली को यह सम्मान दिया गया था.

 

मालूम हो कि इस साल नोबेल शांति पुरस्कार (Nobel Peace Prize) का सम्मान पाने के लिए 300 से भी अधिक व्यक्तियों और संस्थाओं को नामांकित किया गया. यह चौथी बार है जब इतनी बड़ी संख्या में इस सम्मान के लिए नामांकन हुआ.

यह भी पढ़ें: मुकेश अंबानी लगातार 13वें साल भारत के सबसे अमीर शख्स बने, अडानी दूसरे स्थान पर

2019 में WFP ने 100 मिलियन लोगों की मदद की

डब्ल्यूएफपी दुनिया की सबसे बड़ा मानवीय आर्गेनाइजेशन है जो भूख और खाद्य सुरक्षा की समस्या का समाधान करती है. वर्ष 2019 में WFP ने 88 देशों में करीब 100 मिलियन लोगों को सहायता पहुंचाई थी जो गंभीर भुखमरी के शिकार थे. विश्‍व खाद्य कार्यक्रम यानि WFP भुखमरी मिटाने और खाद्य सुरक्षा पर केंद्रित संयुक्त राज्य एजेंसी है. दुनिया भर में जरूरतमंदों तक पहुंच यह खाद्य सामग्री उपलब्ध कराती है. गृह युद्ध और प्राकृतिक आपदाओं जैसे आपात स्थितियों में यह काफी सक्रिय होती है.

क्या है नोबेल पुरस्कार

नोबेल पुरस्कार के तहत स्वर्ण पदक, एक करोड़ स्वीडिश क्रोना (तकरीबन 8.27 करोड़ रुपये) की राशि दी जाती है. स्वीडिश क्रोना स्वीडन की मुद्रा है. यह पुरस्कार स्वीडन के वैज्ञानिक अल्फ्रेड नोबेल के नाम पर दिया जाता है. इससे पहले, रसायन विज्ञान और भौतिकी सहित कई क्षेत्रों में इस साल के नोबेल पुरस्कार की घोषणा की जा चुकी है.

साहित्य के नोबेल पुरस्कार की घोषणा

उधर साल 2020 के साहित्य के नोबल प्राइज की घोषणा गुरुवार कर दी गई. अमेरिका कवयित्री लुईस गल्क को इस साल साहित्य के नोबल पुरस्कार से नवाजा गया है. पुरस्कार की घोषणा करते हुए स्वीडिश अकादमी ने ट्वीट किया है कि साल 2020 के साहित्य का नोबल प्राइज अमेरिकी साहित्यकार लुईस गल्क को व्यक्तिगत अस्तित्व को आवाज देती कविता के लिए दिया जा रहा है.

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें