Gujarat Exclusive > देश-विदेश > दंगे की अफवाह को लेकर दिल्ली सरकार सख्त, 3 साल की हो सकती है जेल

दंगे की अफवाह को लेकर दिल्ली सरकार सख्त, 3 साल की हो सकती है जेल

0
248

दिल्ली में भड़की हिंसा के बाद से देश की राजधानी में हालात शांति की ओर अग्रसर हैं लेकिन इस दौरान कई बार अफवाहों का भी बाजार गर्म है. पुलिस लगातार अफवाहों से बचने और उस पर ध्यान न देने की अपील कर रही है लेकिन इसके बावजूद दिल्ली में रविवार को लगातार दंगा भड़कने की अफवाह सुनाई देती रही. हालांकि अब अफवाहों से निपटने के लिए दिल्ली सरकार ने सख्ती से निपटने का फैसला किया है.

रविवार को अफवाहों के चलते कई इलाकों में तनाव की स्थिति बनी रही जिसके बाद अफवाहों पर लगाम कसने के लिए केजरीवाल सरकार ने सख्त कदम उठाया है. आम आदमी पार्टी के विधायक (आप) सौरभ भारद्वाज ने कहा कि अगर कोई अफवाह फैलाते हुए पाया गया तो 3 साल की सजा हो सकती है.

दिल्ली में शांति व्यवस्था कायम करने के लिए 9 सदस्यीय ‘शांति और सद्भाव समिति’ का गठन किया गया है. दिल्ली विधानसभा में ‘शांति और सद्भाव समिति’ का गठन किया है. इसकी अध्यक्षता आप विधायक सौरभ भारद्वाज करेंगे. इस समिति में आप विधायक आतिशी और राघव चड्ढा भी शामिल हैं. ‘शांति और सद्भाव समिति’ की 3 बजे बैठक हुई. कमेटी एक नंबर भी जारी करेगी जिस पर ऐसे मैसेज की शिकायत की जा सकेगी.

बैठक के बाद सौरभ भारद्वाज, ‘कमेटी बड़े स्तर पर प्रचाारित करेगी कि अगर कोई भी सोशल मीडिया पर फेक मैसेज जो दो समुदायों के बीच दुश्मनी फैलाता है उसे शेयर,रीट्वीट,फारवर्ड करते हैं तो इससे आपको 3 साल की सज़ा हो सकती है. कमेटी एक नंबर भी जारी करेगी जिस पर ऐसे मैसेज की शिकायत की जा सकेगी.’ उन्होंने बताया कि अगर किसी को ऐसा कोई ट्वीट या मैसेज मिलता है तो विधानसभा की कमेटी को भेजे. कमेटी इसके लिए फ़ोन नंबर जारी करेगी. कमेटी लीगल एक्सपर्ट की टीम रखेगी. एक एजेंसी को कमेटी हायर करेगी जो बतायेगी की खबर नकली है या असली. दिल्ली में भड़की हिंसा के फैल रही अफवाहों के सिलसिले में सोमवार को कई गिरफ्तारियां भी की गईं.