Gujarat Exclusive > गुजरात > विदेश में रहने वाले गुजराती मदद के लिए आए आगे, भेजेंग ऑक्सीजन मशीन

विदेश में रहने वाले गुजराती मदद के लिए आए आगे, भेजेंग ऑक्सीजन मशीन

0
218

पाटन: कोरोना महामारी के इस दौर में सबसे ज्यादा संक्रमितों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. nri send oxygen gujarat villages

कोरोना मरीजों को खासकर ऑक्सीजन की कमी और मेडिकल सुविधा के अभाव में मौत हो रही है.

ऐसे कठिन समय में वर्षों से अमेरिका में रहने वाले पांच गांव के पाटीदार समुदाय के लोगों ने मातृभूमि का कर्ज चुकाने के लिए आगे आए हैं.

मातृभूमि का कर्ज चुकाने के लिए आगे आए गुजराती nri send oxygen gujarat villages

इन लोगों ने अमेरिका में 110 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीनें खरीदी हैं. एक मशीन की लागत 450 से 500 डॉलर है. 110 ऐसी मशीनें कुछ दिनों में अमेरिका भारत पहुंच जाएंगी.

यहां पहुंचने के बाद 25 मशीनें उत्तर गुजरात के पाटन तालुका के बालिसणा गांव में, संडेर में 17, मुणुंद में 17, विसनगर तालुका के भांडू गांव में 17 और वालम गांव में 25 मशीनें प्रदान की जाएंगी.

जबकि 9 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीनों को रिजर्व में रखा जाएगा. nri send oxygen gujarat villages

110 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीनें खरीदी गई

इस सिलसिले में जानकारी देते हुए मणूंद गांव निवासी दीक्षित पटेल का कहना है कि हमारी प्राथमिकता है कि कोरोना से संक्रमित रोगियों की ऑक्सीजन की कमी के कारण जिंदगी से हाथ ना धोना पड़े.

इस गांव के रहने वाले जो अभी अमेरिका में रहते हैं ऐसे लोगों ने 5 गांवों की सेवा करने में तत्परता दिखाई है. nri send oxygen gujarat villages

वह दवा, ऑक्सीजन मशीनों के अलावा अन्य मेडिकल सुविधा मुहैया करवाने के लिए तैयारी दिखाई है.

बता दें कि ऑक्सीजन कंसंट्रेटर एक ऐसी मशीन है, जिसमें ऑक्सीजन भरने की जरूरत नहीं पड़ती है. यह मशीन खुद ऑक्सीजन का उत्पादन करती है.

ताकि मरीजों को तुरंत ऑक्सीजन मिल सके. इस मशीन से कोरोना के मरीजों को व्यापक फायदा होने की उम्मीद जताई जा रही है. nri send oxygen gujarat villages

गुजराती में ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

गुजरात में लॉकडाउन को लेकर आज शाम होगा फैसला: सीएम रूपाणी